केदारनाथ धाम की 18 किमी. की पैदल चढ़ाई चढ़कर कार्यों की प्रगति का जायजा लेने पहुंचे सचिव पर्यटन -जानिए खबर

देहरादून। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की निगरानी में किए जा रहे अवस्थापना स्थापना संबंधी कार्यों की प्रगति का जायजा लेने सचिव पर्यटन श्री दिलीप जावलकर पैदल 18 किलोमीटर की चढ़ाई चढ़कर केदारनाथ धाम पहुंचे। इस दौरान उनके द्वारा सार्वजनिक उपक्रमों से प्राप्त 104 करोड़ रुपये से किए जाने वाले कार्यों का नियोजन किया गया।

उन्होंने बताया कि देवस्थानम बोर्ड को अपना कार्य केवल पूजा अर्चना तक सीमित न रखते हुए … यात्रियों की सेवा हेतु अतिरिक्त कार्य करने को कहा गया है। इसी क्रम में अगले सप्ताह अवस्थापना विकास कार्यों हेतु शासन देवस्थानम बोर्ड को 5 करोड की धनराशि जारी करेगा। उन्होंने कहा कि देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी कर्मचारियों का विजन विशाल होना चाहिए तभी वो शासन की मंशा पर खरा उतर सकेंगे।

इस दौरान पांडे पुरोहितों द्वारा ईशानेश्वर मंदिर बनाने की अनुमति देने की एवम प्रांगण में घंटा लगाने की मांग की गई। देवस्थानम बोर्ड के अधिकारियों व स्थानीय पंडे पुरोहितों को आश्वस्त किया गया कि मंदिर के समीप उन्हें पर्याप्त भूमि व निर्माण की अनुमति शीघ्र ही दे दी जाएगी। यह कार्य मास्टर प्लान के अनुरूप किया जाएगा। इस दौरान अन्य विभागों द्वारा बिना अनुमति किये जा रहे सभी कार्य तत्काल रोकने के आदेश ैक्ड को दिए गए।

सचिव पर्यटन द्वारा स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के उद्देश्य से संस्था सुलभ इंटरनेशनल को 48 अतिरिक्त सफाई कर्मियों की तैनाती करने और यात्रियों की अधिकतम सुविधा हेतु साफ-सफाई का उच्चतर स्तर बनाने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने बताया कि पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक अब तक 940 स्थानीय श्रद्धालुओं द्वारा बाबा केदार के दर्शन किए जा चुके हैं।

विदित हो कि तेज बारिश के कारण राज्य के मुख्य सचिव एवं भारत सरकार के सचिव पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुरूप केदारनाथ नहीं पहुंच सके।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *