प्राध्यापकों के संबंध में शासन का सकारात्मक रुख: शीघ्र ही प्राध्यापकों को मिलेगा सातवें वेतनमान का लाभ

देहरादून (राज शेखर भट्ट)। प्रदेश के विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों में लिए खुशखबरी है कि वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि उच्च शिक्षा में शिक्षकों को सातवें वेतनमान का लाभ शीघ्र ही दे दिया जाएगा। बता दें कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों के संबंध में शासन का सराहनीय एवं सकारात्मक रुख दिखाया है।

वहीं हमारे संवाददाता ने वित्तमंत्री श्री प्रकाश पंत से इस संबंध में जानकारी चाही तो वित्तमंत्री प्रकाश पंत ने बताया कि इस संबंध में शिक्षक संघ एकता के पदाधिकारीयों द्वारा सातवें वेतनमान की मांग लंबे समय से की जा रही थी। इस संबंध में वित्तमंत्री द्वारा प्रमुख सचिव वित्त से आवश्यक कार्यवाही कर शीघ्र ही सातवें वेतनमान का लाभ शिक्षकों को देने के संबंध में त्वरित कार्यवाही करने को निर्देशित किया था। इस संबंध में शासन द्वारा शिक्षक संघ के दबाब में विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों शिक्षकों के वेतनमान से कितना व्यय भार पड़ेगा व्योरा तलब किया गया था।

teacher seven pay meeting

वित्तमंत्री का कहना है कि वित्त विभाग में पत्रावली में कार्यवाही चल रही है। शीघ्र ही प्रदेश के शिक्षकों को इसका लाभ दे दिया जाएगा। इस संबंध में हमारे संवाददाता द्वारा एकता शिक्षक संघ के सचिव डॉ नवीन भट्ट से भी दूरभाष पर वार्ता की तो उनका कहना था कि इस संबंध में शिक्षक संघ एकता द्वारा मुख्यमंत्री, वित्तमंत्री व उच्च शिक्षा मंत्री को भी अवगत कराने के साथ ही शिक्षक संघ लगातार शासन के संपर्क में बना हुआ है। उन्होंने कहा कि इससे लगभग प्रदेश के 1500 से भी अधिक शिक्षक लाभान्वित होंगे।

शिक्षक संघ के महासचिव डॉ नवीन भट्ट ने यह भी बताया कि शासन द्वारा इस संबंध में सकारात्मक रुख दिखाया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री व वित्तमंत्री द्वारा उनको शीघ्र लाभ दिए जाने को लेकर उनको आश्वस्त किया है और जब तक सातवें वेतनमान का लाभ शिक्षकों को नही मिल जाता प्रयास जारी रहेगा।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply