प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) स्वीकृत में से अपात्र लाभार्थियों के नाम हटाने को अनुमोदन -जानिए खबर

देहरादून(ब्यूरो)। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अन्तर्गत गठित राज्य स्तरीय अनुमोदन एवं अनुश्रवण समिति (एस.एल.एस. एम.सी) के अध्यक्ष/मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में भारत सरकार से वर्ष 2015 से 2019 तक प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में स्वीकृत 17,227 लाभार्थियों में से पाये गये अपात्र 4175 लाभार्थियों के नाम हटाने का अनुमोदन किया गया।

मुख्य सचिव द्वारा हटाये गये लाभार्थियों की सूची पर चर्चा करते हुए इनमें शामिल 36 पट्टाधारक लाभार्थियों के प्रकरणों को दुबारा रिव्यु करने के निर्देश दिये जिनमें सचिव शहरी विकास द्वारा बताया गया कि इनमें शामिल लाभार्थियों में 161 नजूल भूमि, 480 आबादी क्षेत्र, 36 पट्टाधारक, 225 भूमि अनुपलब्धता, 1295 पक्का मकान वाले तथा 1932 निरस्त किये जाने वाले प्रकरण में अधिक आय, अन्य आवास योजना से लाभान्वित होने अथवा नगरीय क्षेत्र से बाहर होने या अनुसूचित जनजाति वर्ग की भूमि के कारण हटाये गये हैं। मुख्य सचिव ने सचिव शहरी विकास को निरस्त पट्टाधारको को कम किराये वाले आवासीय परिसरों मे भवन दिलाने की संभावना पर भी विचार करने के निर्देश दिये।

एसएलएसएमसी द्वारा 14 नगर निकायों में 211 आवासों के विस्तारीकरण के प्रस्ताव को भी अनुमोदन प्रदान किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना में स्वीकृत की जाने वाली कार्ययोजना में विभिन्न शासकीय निकायों की 14 कार्ययोजना को अनुमोदन किया गया। पूर्व में इस योजना में स्वीकृत 59 कार्ययोजना में कार्य गतिमान है।

मुख्य सचिव ने चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना अर्बन में कम किराये वाले आवासीय परिसर निर्माण योजना के लिए मॉडल 1 में शहरी विकास तथा मॉडल 2 में आवास विभाग को नामित किया गया तथा इस योजना में शासकीय विभागों से निर्माणकार्य न कराने की एसएलएसएमसी में सहमति बनी। बैठक में सचिव शहरी विकास श्री शैलेश बगोली, सचिव राजस्व श्री सुशील कुमार, निदेशक शहरी विकास श्री वीके सुमन सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *