योग प्रशिक्षकों के योगा ज्ञान के आदान प्रदान से युवा छात्रों के लिए सुलभ होंगे बेहतर रोजगार के अवसर -जानिए खबर

देहरादून(ब्यूरो)। योग प्रशिक्षकों के योगा ज्ञान के आदान प्रदान से राज्यों में उपलब्ध विशेषज्ञ मानव संसाधन के आदान प्रदान से राज्यों के युवा छात्रों को रोजगार के बेहतर अवसर सुलभ होंगे तथा इससे देश की एकता मजबूत होने के साथ आर्थिक उन्नति भी प्रशस्त होगी। बता दें कि लिंक अधिकारी मुख्य सचिव/अपर मुख्य सचिव मा0 मुख्यमंत्री, श्री ओम प्रकाश की अध्यक्षता में कर्नाटक के अपर मुख्य सचिव श्री राजकुमार खत्री के साथ सचिवालय स्थित उनके कक्ष में एक भारत श्रेष्ठ भारत अभियान बैठक के दौरान दोनो राज्यों के बीच शिक्षा, हैंडीक्राफ्ट उत्पादों, कृषि, योगा एवं सांस्कृतिक आदान-प्रदान को लेकर वर्ष भर में संचालित किये जाने वाले कार्यक्रमों की रूप रेखा के निर्धारण पर विस्तार से चर्चा हुई।

अपर मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश ने दोनों राज्यों के योग प्रशिक्षकों के योगा ज्ञान के आदान प्रदान की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि दोनों राज्यों में उपलब्ध विशेषज्ञ मानव संसाधन के आदान प्रदान से दोनों राज्यों के युवा छात्रों को रोजगार के बेहतर अवसर सुलभ होंगे तथा इससे देश की एकता मजबूत होने के साथ आर्थिक उन्नति भी प्रशस्त होगी।

उन्होंने यहां उत्पादित होने वाली पारम्परिक फसलों यथा कोदा, झंगोरा, मंडूवा, बाजरा आदि तथा कर्नाटक में होने वाले स्थानीय फसलों के ज्ञान का आदान प्रदान करने की आवश्यकता पर बल देते हुए इस क्षेत्र में भी विशेष ध्यान देने के अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिए। श्री ओम प्रकाश ने कहा कि आगामी जनवरी माह में बंगलोर में दोनों राज्यों के अधिकारियों एवं दोनों राज्यों में उपलब्ध शीर्ष संस्थाओं के मध्य एक समन्वय बैठक की जायेगी जिसमें वर्ष भर आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों की रूप रेखा तैयार की जायेगी तथा इसके बाद मसूरी में एक कार्यशाला आयोजित की जायेगी, जिसमें अभियान के तहत किये गये कार्यक्रमों की समीक्षा भी की जायेगी।

उन्होंने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत अभियान के मूल उद्देश्य विभिन्न भाषा, सांस्कृतिक और खान पान, पोषाक के बारे में एक दूसरे की संस्कृति के बारे में जानकर भाई चारा, एकता, त्याग, अनेकता में एकता के भाव को बढ़ावा मिलेगा। तथा एक दूसरे राज्य के समृद्ध विरासत, संस्कृति, रीति रिवाज और परम्पराओं को समझने का भी बेहतर अवसर प्राप्त होगा।

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार द्वारा एक भारत श्रेष्ठ भारत अभियान के तहत देश के समस्त राज्यों को एक दूसरे राज्यों की संस्कृति, भाषा, रहन-सहन आदि की जानकारी हो इसके लिए एक दूसरे राज्य को आपस में जोड़ा गया है। इस क्रम में आज दोनों राज्यों के बीच इकरारनामा पर भी हस्ताक्षर किये गए। बैठक में कर्नाटक के नोडल आफिसर डा. भाग्यवान, सचिव विद्यालयी शिक्षा मीनाक्षी सुंदरम, अपर सचिव उच्च शिक्षा अशोक कुमार एवं डा. अहमद इकबाल, निदेशक संस्कृति श्रीमती बीना भट्ट, रूसा निदेशक डा. रचना नौटियाल, डा. दीपक कुमार पाण्डेय सहित शिक्षा कृषि, सूचना विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *