भाजपा के बेहतर संकेत के साथ ही नैनीताल में दो मंत्रियों की प्रतिष्ठा भी दांव पर

हल्द्वानी। नैनीताल क्षेत्र में भाजपा के बेहतर प्रदर्शन होने के संकेत लग रहे हैं। मीडिया सूत्रों के अनुसार पार्टी भी अपने इस प्रदर्शन को लोकसभा चुनाव में भी बरकरार रखना चाहेगी। गौरतलब है कि विषम भौगोलिक व भिन्न सामाजिक स्थिति वाले नैनीताल लोकसभा क्षेत्र में 14 विधानसभा सीटें हैं। इसमें से 11 में भाजपा के विधायक हैं, जिसमें से दो कैबिनेट मंत्री भी हैं।

मीडिया सूत्रों के अनुसार ऐसे में इस सीट पर दो कैबिनेट मंत्रियों में यशपाल आर्य व अरविंद पांडेय शामिल हैं। इसमें से यशपाल आर्य ने दावेदारी भी की है। फिर भी इस चुनाव में इन दोनों मंत्रियों के लिए राजनीतिक परीक्षा की घड़ी रहेगी। यशपाल तराई क्षेत्र बाजपुर से विधायक हैं, लेकिन उनका प्रभाव भाबर व पहाड़ पर भी है। उनके बेटे संजीव आर्य नैनीताल से विधायक हैं। ऐसे में उनके प्रदर्शन पर पार्टी हाइकमान की नजर रहेगी। जबकि, अरविंद पांडे का तराई क्षेत्र में अच्छा प्रभाव माना जाता है।

अगर जिला स्तर का आकलन करें तो नैनीताल जिले की छह विधानसभा सीटों में एक सीट पौड़ी लोकसभा में है। पांच में से एक विधानसभा सीट कांग्रेस और एक निर्दलीय के पास और तीन भाजपा के पास है। ऊधमसिंह नगर में भी आठ में से कांग्रेस के पास केवल एक सीट है।

नगर निगम तीनों सीटें अपने भाजपा के पास हैं, लेकिन नगर पालिका व पंचायत की 50 फीसद सीटों पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की। हालांकि, दोनों चुनावों की परिस्थितियां व मुद्दे अलग-अलग रहे। इसलिए लोकसभा चुनाव में इन मेयरों व पालिकाध्यक्षों के लिए भी अपने क्षेत्र में जीत दर्ज कराना चुनौती रहेगा।

वहीं पुराने विधायकों की प्रतिष्ठा भी दांव पर बतायी जा रही है। ज्ञातव्य हो कि भाजपा में विधायक बंशीधर भगत, राजकुमार ठुकराल, राजेश शुक्ला, हरभजन सिंह चीमा, पुष्कर धामी का कद भी बढ़ा है। कोई दूसरी बार तो कोई छठी बार के विधायक हैं। इनका अपना भी अलग प्रभाव है। ऐसे में इन विधायकों की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी रहेगी।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply