संगीत प्रेमियों के लिए बिल्कुल नया अनुभव; डॉल्बी लैबोरेटरीज और आईपीआरएस के बीच समझौता -जानिए खबर

देहरादून। मंत्रमुग्ध कर देने वाले ऑडियो एवं वीडियो मनोरंजन के क्षेत्र की अग्रणी कंपनी, डॉल्बी लैबोरेटरीज इंक (एनवाईएसई-डीएलबी), ने भारत में परफॉर्मिंग राइट्स के एकमात्र संगठन तथा देश में 6000 से अधिक मशहूर लेखकों, संगीतकारों और पब्लिशर्स का प्रतिनिधित्व करने वाले संस्थान, द इंडियन परफॉर्मिंग राइट सोसाइटी लिमिटेड के सदस्यों के लिए एक शैक्षणिक कार्यक्रम के शुभारंभ की घोषणा की है।

बता दें कि इस कार्यक्रम के माध्यम से आईपीआरएस के सदस्यों को डॉल्बी एटमॉस म्यूजिक वेबिनार सीरीज में भाग लेने का अवसर मिलेगा, जिसमें टेक्नोलॉजी एवं वर्कफ्लो, डॉल्बी एटमॉस ट्यूटोरियल सीरीज, डॉल्बी इंस्टीट्यूट मास्टरक्लास तथा डॉल्बी एटमॉस प्रोडक्शन सूट के लिए फ्री ट्रायल के अलावा कई अन्य गतिविधियां शामिल होंगी।

डॉल्बी लैबोरेटरीज में इमर्जिंग मार्केट्स के मैनेजिंग डायरेक्टर, श्री पंकज केडिया ने इस कार्यक्रम के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा, “डॉल्बी एटमॉस संगीत रचनाकारों के साथ-साथ संगीत प्रेमियों के लिए बिल्कुल नया अनुभव है। यह संगीत रचनाकारों को अपनी रिकॉर्डिंग के साथ खुद से प्रयोग करने तथा अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करने के लिए विभिन्न प्रकार के नवीन अवसर उपलब्ध कराता है।

इस कार्यक्रम के माध्यम से हम भारत में संगीत रचनाकारों और म्यूजिक पब्लिशर्स को इस बारे में और अधिक जानने एवं पता लगाने का अवसर प्रदान कर रहे हैं कि, डॉल्बी एटमॉस किस प्रकार संगीत की रचना एवं इसके अनुभव को नए सिरे से परिभाषित कर रहा है।

आईपीआरएस के अध्यक्ष, श्री जावेद अख़्तर ने कहा, ष् आईपीआरएस अपने सदस्यों को डॉल्बी एटमॉस म्यूजिक के बारे में और ज्यादा जानने का अवसर उपलब्ध कराने के लिए, डॉल्बी के साथ इस साझेदारी को लेकर बेहद आशान्वित है। डॉल्बी का यह शैक्षणिक कार्यक्रम भारत में संगीत समुदाय से जुड़े लोगों को प्रेरित करेगा तथा उन्हें अपने संगीत के अनुभव को बेहद आकर्षक एवं अद्भुत बनाने के लिए नए-नए अवसर प्रदान करेगा।”

चर्चा को आगे बढ़ाते हुए आईपीआरएस के सीईओ, श्री राकेश निगम ने कहा, ष्आज संगीत का परिदृश्य बड़ी तेजी से बदल रहा है, लिहाजा संगीत रचनाकारों के लिए मौजूदा विकास एवं तकनीकी प्रगति के साथ कदम मिलाकर चलना, तथा इसका भरपूर लाभ उठाना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

हम अपने श् आईपीआरएस 2.0श् पहल के एक भाग के रूप में डॉल्बी लैबोरेटरीज के साथ इस गठबंधन से बेहद उत्साहित हैं, जो हमारे सदस्यों के मूल्य-वर्धन के साथ-साथ उन्हें सशक्त भी बनाएगा, तथा उन्हें भविष्य के लिए तैयार करेगा।

इस साझेदारी के माध्यम से, हम ऑडियो निर्माण में प्रवीणता हासिल करने के इस कारगर तरीके के साथ अपने सदस्यों के कौशल को और बेहतर बनाना चाहते हैं, तथा इसे अपनाने से जुड़ी अहम जानकारी उपलब्ध कराते हैं ताकि वे अपने श्रोताओं को संगीत का अद्वितीय अनुभव प्रदान कर सकें।ष्

डॉल्बी एटमॉस म्यूजिक क्या है

जरा सोचिए कि पूरी क्षमता और रचनात्मक की शक्ति के साथ संगीत से जुड़ने का कोई तरीका मौजूद होता दृ वैसे नहीं, जिस तरह से आज ज्यादातर लोग संगीत सुनते हैं, बल्कि एक ऐसा वर्जन जो आपको गीत की ओर आकृष्ट करता है और आपके समक्ष यह प्रकट करता है कि पारंपरिक रिकॉर्डिंग में कौन सी चीज मौजूद नहीं है। डॉल्बी एटमॉस बस यही करता है। बात चाहे किसी श्रोता के आसपास रखे गए वाद्ययंत्रों की स्वर-संगति की हो, उच्च कोटि का एक गिटार सोलो जिसकी आवाज से पूरा कक्ष गूंज उठता है, एक बड़ा सा बैस ड्रॉप जो आपके दिलो-दिमाग को झंकृत कर देता है, या फिर किसी गायक के सांस लेने की धीमी आवाज की बात हो, डॉल्बी एटमॉस संगीत से जुड़ी हर बारीकी एवं भावनाओं को कलाकार की कल्पनाओं के अनुरूप पूरी तरह अभिव्यक्त करने की आजादी और अवसर देता है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *