अद्भुत चमत्कारः लोगों को बचाना के लिए यहां चीन ने 8 दिन में बनाया एक हजारा बेडों का अस्पताल -जानिए खबर

कोरोनावायरस (Coronavirus) से अब तक पूरी दुनिया में 17387 लोग बीमार हो चुके हैं। जबकि इसमें से 17205 संक्रमित लोग सिर्फ चीन में ही हैं। कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से अब तक 362 लोगों की मौत हो चुकी है। बढ़ते हुए मरीजों चीन ने वुहान में 8 दिन पहले एक अस्थाई अस्पताल बनाना शुरू किया था। जो अब पूरा हो चुका है। ये अपने आप में एक कमाल है कि कोई देश इतने कम समय में इतना बड़ा अस्पताल बना दे।

सिर्फ चीन में अब तक कोरोनावायरस (Coronavirus) से मरने वालों की संख्या 231 हो चुकी है। जबकि, कुल संक्रमित लोगों में से 344 लोग अत्यधिक गंभीर हैं। 980 लोगों की हालत गंभीर है। 7824 लोगों पर नजर रखी जा रही है। ये लोग अस्पतालों में डॉक्टरों की निगरानी में हैं।

वुहान के होउशेनशान में बने इस 1000 बेड वाले अस्पताल में 4 फरवरी से मरीजों का इलाज शुरू हो जाएगा। यह पूरा अस्पताल करीब 269,000 वर्ग फीट इलाके में बनाया गया है। इसके अंदर चीन की सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के 1400 चिकित्साकर्मी भी काम कर रहे हैं। इस नए अस्पताल की कमान चीन की सेना संभालेगी।

इस अस्पताल का डिजाइन वैसा ही है जैसा 2003 में सार्स (SARS) से लड़ने के लिए बीजिंग में एक अस्थाई अस्पताल बनाया गया था। इस अस्पताल को बनाने के लिए चीन ने पूरे देश को इंजीनियर्स को वुहान बुला लिया था। इस अस्पताल में दवाइयां, मेडिकल इक्विपमेंट्स, मास्क आदि जो भी जरूरतें होंगी वह सीधे फैक्ट्रियों से मंगाई जा सकेंगी।

इसके लिए अस्पताल प्रबंधन को अधिकार दिए गए हैं ताकि वह इन चीजों के लिए फैक्ट्रियों को सीधे खरीद-फरोख्त का आदेश दे सके। इस अस्पताल का नाम रखा गया है – फायर गॉड माउंटेन (Fire God Mountain)। इसकी कमान चीनी सेना के पास हैं। इस अस्पताल का पूरा प्रबंधन चीन की सेना ही देखेगी।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *