‘मुख्यमंत्री एप’ पर शिकायत करने से मिली नौकरी, जीवन में आयी खुशियां

देहरादून। ‘मुख्यमंत्री एप’ लोगों के जीवन में खुशी की बाहर लेकर आ रहा है बता दें जब से राज्य में ‘मुख्यमंत्री एप’ शुरू हुआ है कई लोगों के जीवन में खुशियों की बाहर आई हैं। ऐसे ही एक उम्मीदवार की समस्या का समाधान न होने पर उन्होंने अपनी समस्या मुख्यमंत्री मोबाइल एप (Mukhyamantri Mobile App) पर दर्ज की और उनके जीवन में भी खुशियों की बाहर आई है।

बता दें कि पिथौरागढ़ जिले के धारचूला निवासी श्री जितेन्द्र सिंह सामंत का शिक्षा विभाग पिथौरागढ़ में मृतक आश्रित के रूप में नियुक्ति का प्रकरण 27 जून 2017 से लंबित था। उनके द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी पिथौरागढ़ में भी कई बार शिकायत की पर उनकी नियुक्ति नहीं हो पाई। उन्होंने अपनी समस्या मुख्यमंत्री ‘मोबाइल एप’ पर दर्ज की। मुख्यमंत्री कार्यालय से ‘मोबाइल एप’ पर दर्ज शिकायत का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी पिथौरागढ़ को निर्देश दिये गये कि श्री जितेंद्र सिंह सामंत की मृतक आश्रित की नियुक्ति के प्रकरण का समाधान करें। जिलाधिकारी द्वारा प्रकरण की जांच कराई गई, तो पता लगा कि यह प्रकरण अपर निदेशक कार्यालय-माध्यमिक शिक्षा (कुमाऊं मंडल) पिछले 9 माह से लंबित है।

जिलाधिकारी पिथौरागढ़ द्वारा यह सूचना प्राप्त होने पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने उक्त मामले में अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा (कुमाऊं मंडल) को शीघ्र निस्तारण करने के निर्देश दिए। मंडलीय अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक शिक्षा (कुमाऊं मंडल) ने विषय की गम्भीरता को समझते हुए जितेन्द्र सिंह सामंत की शैक्षिक योग्यता देखकर व एम०ए० (अंग्रेजी), बीएड, सी०टी०ई०टी० प्रमाणपत्र धारक होने पर उन्हें मृतक आश्रित नियुक्ति पत्र- सहायक अध्यापक एल०टी० अंग्रेजी (अस्थाई) के पद पर रा०ई०का० नामिक पिथौरागढ़ में नियुक्ति दी गई है। जितेन्द्र सिंह सामंत ने समस्या का शीघ्र समाधान होने और अपनी काफी अरसे से लंबित पड़ी नियुक्ति हो जाने पर मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड को धन्यवाद दिया है।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply