राज्य के पर्वतीय अंचल में पहाड़ की जमीन बचाने के लिए श्री गणेश सिंह गरीब के नतृत्व में चकबन्दी की मांग -जानिए खबर

पौड़ी(गढ़वाल)। चकबन्दी दिवस के अवसर ओअर आगामी 01 मार्च 2020 को ग्राम ढुंग्याड़, रायसेरा, गवाणी, पौड़ी गढ़वाल में ‘‘संकल्प’’ श्री सम्मान समारोह आयोजित किया जायेगा। ‘‘संकल्प’’ श्री सम्मान की शुरुआत उत्तराखंड के वरिष्ठ पत्रकार वरिष्ठ पत्रकार स्व. ललित मोहन कोठियाल के विचारों के सम्मान में चकबन्दी के लिये प्रयासरत संगठन गरीब क्रान्ति अभियान, उत्तराखण्ड द्वारा गत वर्ष 01 मार्च 2019 को की गयी थी।

राज्य के पर्वतीय अंचल में विगत चार दशकों से गणेश सिंह गरीब के नतृत्व में चकबन्दी की मांग हो रही है और अब इसकी आवश्यकता भी महसूस की जा रही है। चकबन्दी के लिये प्रयारत गरीब क्रान्ति अभियान, उत्तराखण्ड द्वारा लगातार इस मांग पर आगे बढ़ाने के फलस्वरूप ही वर्ष 2016 में तत्कालीन सरकार के कार्यकाल में महामहिम राज्यपाल की स्वीकृति से ‘‘उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्रों के लिये जोत चकबन्दी एवं भूमि व्यवस्था विधेयक, 2016’’ अधिनियम बना।

परन्तु वर्तमान में चकबन्दी के लिये एक समिति का गठन होने के उपरान्त भी अभी तक सरकारी स्तर पर नियमावली नही बनी है। वर्तमान में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के गाँव खैरा, कृषि मंत्री सुबोध उनियाल के पैतृक गाँव औणी एवं एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के गाँव पंचूर पौड़ी गढ़वाल का नोटिफिकेशन भी हो चुका है। इस पर अभी शासन स्तर पर चकबन्दी नियमावली बनने के उपरान्त ही कैबिनेट से पास होने के फलस्वरूप धरातल पर कार्य शुरू हो सकेगा।

चकबन्दी दिवस की शुरूआत 01 मार्च 2012 में की गयी थी, ताकि समवेत स्वरों में चकबन्दी की मांग को और अधिक मजबूती मिल सके और अधिक से अधिक लोग जागरूक हों। ‘‘बात पहाड़ की जमीन बचाने की’’ को लेकर 01 मार्च 2020 को ‘‘चकबन्दी दिवस’’ का आयोजन ‘‘उम्मीद’’ समन्वित कृषि बागवानी केन्द्र की शुरूआत कर ढुंग्याड़, रायसेरा गवाणी, पौड़ी गढ़वाल में आयोजित किया जा रहा है. इसमें पहाड़ों की खुशहाली चकबन्दी के लिये अनवरत प्रयासरत आधार स्तम्भ रहे वरिष्ठ पत्रकार स्व. एल. मोहन कोठियाल के विचारों को आगे बढ़ाते हुये कृषि एवं बागवानी के क्षेत्र में विक्रम सिंह रावत, ग्राम गंगाऊँ, पट्टी चोपड़ाकोट, ब्लॉक थलीसैंण, पौड़ी गढ़वाल को ‘‘संकल्प श्री’’ सम्मान दिया जा रहा है।

चकबन्दी दिवस के इस कार्यक्रम में लगभग 70 नाली जमीन पर एक बड़े चक के रूप में ‘‘उम्मीद’’ समन्वित कृषि केन्द्र की भी शुरूआत की जा रही है। जिसमें भविष्य में कृषि, बागवानी, डेयरी, मधुमक्खी पालन, मतस्य पालन, कुक्कुट पालन इत्यादि का सफल प्रयोग कर चकबन्दी के मॉडल के रूप में विकसित किया जायेगा साथ ही हमारा उद्देश्य ‘‘पहाड़ की जमीन बचाने की’ राह दिखाने के साथ ही उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्र में कृषि बागवानी के क्षेत्र में नई चेतना का संचार करना भी है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *