योग विभाग बन रहा है सामाजिक जागरण व कल्याण का केंद्र बिंदु

इस राष्ट्रीय कार्यशाला में जुटेंगे देशभर के 500 प्रतिभागी

अल्मोड़ा। अनेक महापुरुषों की कर्मस्थली, तपस्थली व आध्यात्मिक उत्थान का संदेश सम्पूर्ण विश्व को उत्तराखण्ड अल्मोड़ा से गया है। इस क्रम में योग विभाग, कुमाऊं विश्वविद्यालय एस एस जे परिसर द्वारा 8 मार्च से 17 मार्च तक ‘वैकल्पिक चिकित्सा एवम समग्र स्वास्थ्य विषयक’ पर 10 दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है।

जिसमें देश भर के विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ व योगाचार्य देशभर से रहने लगभग 500 प्रतिभागियों को योग की विभिन्न विधाओं में पारंगत करेंगें।

वहीं कुमाऊँ विश्वविद्यालय के योग विभाग के अध्यक्ष डॉ नवीन भट्ट ने कहा राष्ट्रीय कार्यशाला में योग से जुड़ी विभिन्न चिकित्सा पद्धतियों द्वारा व्यक्ति के सर्वांगीण विकास, स्वास्थ्य सम्बर्धन, चिकित्सीय अनुप्रयोग एवम आत्मिक विकास का प्रशिक्षण देकर देश भर से प्रतिभागिता करने वाले लगभग 500 प्रतिभागियों को योग की विभिन्न विधायों में दक्ष किया जाएगा।

विभागध्यक्ष ने यह भी कहा कि उत्तरखंड राज्य योग, आध्यत्म की भूमि है। जिसने सम्पूर्ण देश एवम् विश्व के आध्यत्मिक उत्थान में विशेष महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उत्तराखंड में अल्मोड़ा अनेक महापुरुषों की कर्मस्थली व तपस्थली रही है। जहाँ से उन्होंने आध्यात्मिक उत्थान का संदेश सम्पूर्ण विश्व को दिया है।

अल्मोड़ा, योग विभाग में इस प्रकार का आयोजन कर समाज के कल्याण में भूमिका निभाना योग विभाग का उद्देश्य है। इस कार्यशाला में विभिन्न रोगों से पीड़ित लोगों के रोगों का निराकरण भी किया जाएगा। इस दौरान डॉ प्रेम पांडेय, डॉ लल्लन सिंह, डॉ अरविंद पांडेय, डॉ रविन्द्र पाठक आदि मौजूद थे।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply