कोटद्वार को अलग जिला बनाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन

कोटद्वार को अलग जिला बनाने की मांग को लेकर बार एसोसिएशन से जुड़े अधिवक्ताओं ने तहसील में धरना प्रदर्शन किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि कोटद्वार को जिला बनाने की मांग काफी पहले से उठती आई है, लेकिन प्रदेश में सत्ता में रही किसी भी दल की सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि चुनावों के समय प्रत्येक राजनैतिक दल कोटद्वार को जिला बनाने की मांग को अपने घोषणा पत्र में शामिल करता है लेकिन चुनाव परिणाम निकलते ही यह मांग ठंडे बस्ते में चली जाती है। कोटद्वार विधानसभा के वर्तमान विधायक की ओर से भी चुनावों के दौरान अपने जीतने पर कोटद्वार को जिला बनाने का वायदा किया गया था, लेकिन इस पर भी अब तक कोई अमल नहीं हो पाया है। वक्ताओं ने कहा कि आम जन को जिला संबंधी कार्यों के लिए पौड़ी मुख्यालय जाना पड़ता है जिसमें उसका धन और समय दोनों बर्बाद होते हैं।

कोटद्वार को जिला बनाने से इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है। मौके पर कोटद्वार को शीघ्र जिला न बनाने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई।इस दौरान एसोसिएशन अध्यक्ष अजय पंत, पंकज भट्ट, आशुतोष देवरानी, वीपी नौटियाल, आशुतोष कंडवाल, संजय जोशी, इंन्द्रेश भाटिया, ध्यान सिंह नेगी, सुदामाराम अमोली, दिलबर सिंह, प्रमोद राणा, कुंवर सिंह और मुकेश कबटियाल आदि थे।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply