शराब की दुकान न खुलने से उपभोक्ताओं के हाथ लगी मायूसी -जानिए खबर

देहरादून। कोरोना लॉकडाउन जब से लागू हुआ तब से पूरे भारत सहित उत्तराखंड में भी शराब की दुकानें बंद थीं, जिन्हें लॉकडाउन थ्री के पहले दिन खोल दिया गया है। 40 दिन बाद शराब के ठेके खुलने पर दुकानों के बाहर लंबी लाइन लगी दिखीं। शहर में कुछ शराब की दुकान न खुलने से कुछ उपभोक्ताओं को मायूसी हाथ लगी।

पहले दिन शहर के भीतर अंधिकांश ठेके न खुलने के कारण देशी शराब के लिए मारामारी देखने को मिली। ऊपर से खुली दुकानों में से कई पास रैगूलर ब्रांड नहीं मिल पाया। सोमवार से पाबंद क्षेत्रों को छोड़कर शराब और बीयर की दुकानें खोली गई। इस दौरान सेल्समैन ग्लव्स पहने दिखे। दुकानों के बाहर खरीदारों के बीच छह फीट की दूरी रखनी अनिवार्य की गयी थी।

एक दुकान पर पांच से ज्यादा लोगों के खड़े रहने पर पाबंदी लगाई गयी थी। इसके अलावा यदि पांच से अधिक लोग रहते हैं तो पांचवें से छठे व्यक्ति के बीच 10 फीट का अंतर रखना पड़ा। दुकान के अंदर और बाहर सैनिटाइजर भी रखने के आदेश दिए गए थे।

ताकि सफाई का ध्यान रखा जा सके और संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। प्रशासन के आदेश है कि यदि शराब ठेकों पर सोशल डिस्टेंस की अनदेखी हुई तो ठेका संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। कानून व्यवस्था भंग होने का खतरा हुआ तो ठेके को बंद कराया जाएगा।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *