नशे का इंजेक्शन देकर अस्पताल में भर्ती महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है। एक छात्रा से सरेराह छेड़छाड़ और बदसलूकी के मामले के बाद अब मेरठ के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती महिला मरीज के साथ नशे का इंजेक्शन देकर कर्मचारियों ने गैंगरेप किया है।

पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर तीन लोगों को हिरासत में लिया है। एफआईआर में नामजद आरोपी फरार हैं। घटना मेरठ के गढ़ रोड पर स्थित एक निजी अस्पताल की है।

पीड़िता मेरठ के ही नौचंदी थाना क्षेत्र की रहने वाली है। उसको लिवर में सूजन की शिकायत के बाद शनिवार को भर्ती कराया गया था। वह आईसीयू में थी। रात में उसका पति अस्पताल के ही वेटिंग हॉल में ग्राउंड फ्लोर पर था। शनिवार देर रात महिला ने अपने पति को बुलाकर अपने साथ रेप होने की जानकारी दी।

महिला ने बताया कि अस्पताल की एक स्टाफ नर्स ने पहले इंजेक्शन दिया। वह बेसुध हो गई। करीब 25 मिनट बाद होश आने पर कर्मचारी उसके साथ रेप कर रहे थे। तीनों आरोपी एक डॉक्टर और अस्पताल के दो वार्ड बॉय हैं। महिला के शोर मचाने पर आरोपी भाग गए। कंट्रोल रूप की सूचना पर सीओ और एसडीएम ने अस्पताल में जाकर जांच की।

एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। आईसीयू के दूसरे मरीज घटना की जानकारी से इनकार कर रहे हैं। अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे बंद मिले। महिला की तहरीर पर तीन कर्मचारियों के खिलाफ रेप की एफआईआर लिख ली गई है। पूछताछ के लिए अस्पताल मालिक और दो अन्य को हिरासत में ले रखा है।

अस्पताल मालिक अशोक राणा ने रेप के आरोप को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि आईसीयू में छह और मरीज थे। किसी ने घटना नहीं देखी। इस बीच पुलिस को जानकारी मिल रही है कि पीड़ित महिला एक तांत्रिक के चंगुल में थी। महिला के भाई ने बताया कि कुछ पारिवारिक कारणों से वह एक तांत्रिक के संपर्क में थे। पुलिस ने तांत्रिक को भी हिरासत में लिया है।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply