धरती को भारतीय संस्कृति में मां माना गया है जो हमें जीवन देती है: प्रो. तिवारी

नैनीताल। कुमाउं विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डा. ललित तिवारी ने पृथ्वी दिवस पर सभी नागरिकों को बधाई दी है। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक डा. ललित तिवारी ने कहा है कि धरती को भारतीय संस्कृति में मां माना गया है जो हमें जीवन देती है।

पृथ्वी ही है जो हमें भोजन तथा सांसें देती है जो जीवन का आधार है। वर्तमान में कई चुनौतियां है जिनमें तापक्रम वृद्धि, जलवायु परिवर्तन, पहाड़ों का शुष्क होना तथा अनियंत्रित दोहन जो पृथ्वी पर जीवन को मानव की गलतियों से समस्याओं की बृद्धि कर रही है।

ऐसे में हम सबको सतत् विकास की तरफ अग्रण होना होगा जिससे हम स्वच्छ पर्यावरण एवं स्वस्थ पर्यावरण से बेहतर जीवन जी सकेंगे। पाॅलीथीन से लेकर पौधों की संख्या में वृद्धि तथा प्राकृतिक संसाधनों का नियंत्रित उपयोग इस पर सार्थक हो सकते हैं। स्वस्थ जीवन के लिए पृथ्वी को संरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी है।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply