कुर्ते की प्रशंसा सुनकर बहुत खुश हुए शिक्षा मंत्री; इत्मिनान से सुनी शिक्षकों की फरियाद -जानिए खबर

देहरादून। भाजपा कार्यालय में शिक्षा पंचायतराज मंत्री अरबिन्द पाण्डेय ने जनता दरबार लगाया। जिसमें सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। ज्यादातर शिक्षा विभाग के शिक्षक अपने स्थानान्तरण के लिए फरियाद कर रहे थे। बता दें कि कुर्ते की प्रशंसा सुनकर बहुत खुश हुए मंत्री जी ने सबकी फरियाद बहुत इत्मिनान से सुनी। कई समस्याओं को तत्काल ही आदेशित भी किया।

Teacher Problem

बता दें कि एक शिक्षिका अपनी बूढी माँ को लेकर आईं थी। शिक्षका ने मंत्री के सामने अपनी यह समस्या रखी कि दो साल से विभाग के चक्कर लगाते लगाते वह थक गई। लेकिन मेरा सुगम से दुर्गम में पारस्परिक ट्रांसफर नही हो रहा है जबकि उसकी माँ बहुत ही बृद्ध है और हार्ट के रोग से परेशान है।

मंत्री ने तत्काल आदेशित करते हुए कार्यवाही करने को कहा। वहीं अन्तर्मण्डलीय ट्रांसफर के लिए आये कई शिक्षक-शिक्षाकाओं ने अपनी पीड़ा बताते हुए कहा कि पहले एक्ट में तीन साल-पांच साल में ट्रांसफर की ब्यावस्था थी लेकिन नए एक्ट में यह व्यवस्था हटा दी गयी। जिसके कारण सैकड़ों लोग परेशान हैं।

Uttarakhand Teacher

शिक्षक ललित रौथाण का कहना है कि गत वर्ष भी मंत्री जी ने आश्वासन दिया था कि सभी शिक्षकों का मंडल परिवर्तन किया जायेगा। लेकिन गत वर्ष ट्रांसफर हुए ही नही। जब उन्हें आश्वासन की याद दिलाई तो मंत्री ने कहा कि जल्दी ही इस पर विचार किया जा रहा है। यदि कोई हल नहीं निकला तो इसे कैबनेट में रखा जायेगा।

बता दें कि आज ही मंत्री जी जैसे ही कार्यालय गेट पर ही पहुंचे तो एक मीडिया कर्मी ने टपक से कह दिया कि आपका कुर्ता बहुत ही अच्छा लग रहा है। मंत्री जी काफी खुश मिजाज में दिखे। जिस कारण उन्होंने सबकी फरियाद बहुत इत्मिनान से सुनी। कई समस्याओं को तत्काल ही आदेशित भी किया गया। वहीं जनता दरबार में सैकड़ों फरियादी पहुंचे थे।

राकेश रतूड़ी, पुरोला

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *