आपातकालीन सेवा प्रबन्धन ने चारधाम यात्रा के लिए अपनी तैयारियां की पूर्ण

देहरादून। राज्य में सुरक्षित चारधाम यात्रा को ध्यान में रखते हुये जीवीके ईएमआरआई 108 आपातकालीन सेवा प्रबन्धन ने अपनी तैयारियां पूर्ण कर ली हैं। 108 आपातकालीन सेवा प्रबन्धन द्वारा चारधाम यात्रा के दौरान आपातकालीन स्थितियों में त्वरित सहायता प्रदान करने के उद्देष्य से चारधाम यात्रा मार्गों पर 8 अतिरिक्त 108 आपातकालीन एम्बुलेंस वाहनों को तैनात करने का निर्णय लिया गया है।

108 आपातकालीन सेवा के स्टेट हैड मनीश टिंकू ने बताया कि राज्य में चारधाम यात्रा को सफल व सुगम बनाने के उद्देश्य से 108 आपातकालीन सेवा द्वारा गत वर्शों की भांति इस वर्ष भी आठ अतिरिक्त एम्बुलेंस वाहन तैनात करने का निर्णय लिया गया है। इन अतिरिक्त एम्बुलेंस वाहनों की व्यवस्था जीवीके ईएमआरआई द्वारा संचालित खुशियों की सवारी योजना के अन्र्तगत उपलब्ध एम्बुलेंस वाहनों के माध्यम से की गई है। इन एम्बुलेंस वाहनों की तैनाती चमोली जिले के श्री बद्रीनाथ एवं पंाडुकेश्वर, रुद्रप्रयाग जिले में बासुकेदार, फाटा एवं सोनप्रयाग, उत्तरकाषी जिले में हर्षिल (गंगोत्री) एवं रानाचट्टी (यमनोत्री) में तथा टिहरी जिले के काण्डीखाल में की जायेगी। मनीश टिंकू ने बताया कि चूॅकि अभी केवल गंगोत्री एंव यमुनात्री के ही कपाट खुल रहे हैं, अतः अभी उत्तरकाषी एवं टिहरी जिले के उक्त तीन स्थानों पर ही एम्बुलेंस वाहनों की तैनाती की गयी है, षेश 5 स्थानों पर एम्बुलेंस वाहनों की तैनाती शीघ्र ही करा दी जायेगी।

उन्होंने बताया कि चारधाम यात्रा के दौरान लाखों की संख्या में श्रद्धालु देष-विदेष से चारधाम यात्रा हेतु उत्तराखण्ड में आते हैं, इन श्रद्धालुओं को आपातकालीन स्थिति के दौरान त्वरित सहायता पहुॅचाना हमारा उत्तरदायित्व है। चारधाम या़त्रा के दौरान सड़क दुर्घटना, श्वास सम्बन्धी परेशानी तथा रक्तचाप इत्यादि के कारण घटित होने वाली आपातकालीन मामलों की संख्या में वृद्धि हो जाती है, ऐसे समय में पीड़ित व्यक्ति को आवश्यकता के समय एम्बुलेंस वाहन उपलब्ध कराने के उदद्ेश्य से हमारे द्वारा अतिरिक्त एम्बुलेंस वाहनों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही मनीश टिंकू ने यह भी बताया कि स्वास्थ्य विभाग के निर्देषानुसार जीवीके ईएमआरआई द्वारा चारधाम यात्रा मार्गों में तैनात होने वाले लगभग 160 से अधिक पुलिसकर्मियों तथा स्वास्थ्य विभाग के पैरामैडिकल व अन्य स्टाफ को उत्तरकाषी, रुद्रप्रयाग तथा चमोली में फस्र्ट रिस्पांडर प्रषिक्षण प्रदान किया जा चुका है। ज्ञात हो कि वर्तमान में चारधाम यात्रा से लगे समस्त सात जिलों में 108 आपातकालीन सेवा के 40 एम्बुलेंस वाहन पहले से ही अपनीे सेवाएं प्रदानकर रहे हैं तथा यात्राकाल के दौरान आठ अतिरिक्त एम्बुलेंस वाहनों सहित कुल 48 एम्बुलेंस वाहन चारधाम यात्रा मार्गों पर अपनीे सेवाएं प्रदान करने हेतु तैनात रहेगें।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply