अतिक्रमण पर चला प्रशासन का डंडा

उत्तरकाशी। नगर पंचायत क्षेत्र पुरोला में आये दिन हो रहे अतिक्रमण पर आखिरकार स्थानीय प्रशासन एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने कदम उठा ही दिया। प्रशासन ने बुधवार को सड़क किनारे बने अवैध खोखों को हटाया। वहीं पक्के भवनों की मार्किंग कर शीघ्र भवन स्वामियों को अतिक्रमण हटाने के निर्देश जारी किए।

नगर पंचायत पुरोला के कुमोला रोड़, बस अड्डा, मोरी मोटर मार्ग, छाड़ा खड्ड सहित अन्य स्थानों पर हुए अतिक्रमण के कारण पुरोला में आये दिन जाम की स्थिति बनी रहती है। जिस कारण हरकीदून, केदार कांठा तथा हिमाचल जाने वाले पर्यटकों तथा स्थानीय लोगों को आये दिन परेशानी उठानी पड़ती है। स्थानीय लोगों ने कई बार इसकी शिकायत स्थानीय प्रशासन से भी की। लेकिन कभी कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई। बुधवार को स्थानीय प्रशासन हरकत में आया और नगर क्षेत्र में हो रहे अतिक्रमण को लेकर कार्रवाई शुरू की।

प्रशासन ने लोनिवि के अधिकारियों के साथ अतिक्रमित भवनों पर मार्किंग का कार्य शुरू कर भवनों स्वामियों को नोटिस थमाये और शीघ्र अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए। वहीं मोरी में सड़क किनारे बने अवैध खोखों को जेसीबी लगाकर हटा दिया। राजस्व उप निरीक्षक उपेंद्र सिंह राणा ने बताया कि पक्के भवनों को चिन्हित कर अतिक्रमण हटाने का कार्य किया जा रहा है। जिसके कुछ भवन स्वामियों को नोटिस जारी किए हैं।

 

भोजन माताओं ने किया प्रदर्शन

वहीं चमोली में बुधवार को जिले के विभिन्न क्षेत्रों से जिला मुख्यालय गोपेश्वर पहुंची भोजन माताओं ने भोजन माताओं को हटाये जाने का विरोध करते हुए उनके मानदेय व बोनस को यथाशीघ्र भुगतान किये जाने की मांग की। भोजनमाता संगठन की जिलाध्यक्ष कमला जोशी ने कहा कि एक लंबे समय से भोजनमाताएं जिले की विभिन्न विद्यालयों में अपनी सेवाऐं देती आ रही हैं लेकिन उन्हें हटाये जाने का प्रयास किया जा रहा है। यदि ऐसा होता है तो गरीब परिवार से जुड़ी भोजनमाताओं के सामने आर्थिक संकट पैदा हो जायेगा।

वहीं सरकार ने दीपावली पर भोजन माताओं को बोनस देने की घोषणा की थी जो अभी तक नहीं मिला है साथ ही अक्तूबर माह से उनका मानदेय का भुगतान भी नहीं किया गया है। जिससे की वे आर्थिक संकट से जूझ रहीं हैं। जिला शिक्षा अधिकारी को दिए ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई है कि भोजन माताओं को न हटाया जाए तथा उनके बोनस व मानदेय का भुगतान शीघ्र किया जाए। प्रदर्शनकारियों में बड़ी संख्या में भोजन माताएं मौजूद थीं।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply