एनसीवीटी आइटीआइ में दाखिले के लिए 27 जून से मिलेंगे आवेदन फार्म -जानिए खबर

देहरादून। एनसीवीटी (नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग) के तहत संचालित हो रहे प्रदेश के 93 आइटीआइ (औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान) में 27 जून से दाखिले के लिए आवेदन फार्म मिलेंगे। बता दें कि दाखिले ऑफलाइन होंगे, जबकि काउंसलिंग ऑनलाइन होगी। आवेदन फार्म की छपाई समय पर नहीं होने के कारण फार्म की बिक्री 26 जून के बजाय 27 जून से शुरू होगी।

बता दें कि एनसीवीटी की 7960 सीटों के लिए आवेदन फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 15 जुलाई निर्धारित है। इसके अलावा एससीवीटी (स्टेट काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग) की 100 आइटीआइ में दाखिला प्रक्रिया दो माह बाद शुरू होगी। केंद्र सरकार की ओर से देश के सभी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में एनसीवीटी ट्रेडों में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा की व्यवस्था समाप्त कर दी गई है।

अब बदले हुए नियम के तहत अभ्यर्थी को केवल 10वीं के अंकों के आधार पर आइटीआइ के 32 ट्रेडों में सीटें आवंटित होंगी। पहले मेरिट बनेगी और फिर ऑनलाइन काउंसलिंग होगी।  इसके लिए आटीआइ में ही सुविधा केंद्र बनाए गए हैं। आवेदन फार्म सभी जिलों के नोडल आइटीआइ के अलावा आइटी विभाग के कॉमन सर्विस सेंटर पर मिलेंगे।

सामान्य व ओबीसी श्रेणी के लिए आवेदन फार्म 700 रुपये जबकि अनुसूचित जाति/जनजाति और दिव्यांग के लिए प्रति फार्म 350 रुपये देने होंगे। ऑनलाइन काउंसलिंग के लिए अभ्यर्थी वेबसाइट पर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकता है।

आइटीआइ के परीक्षा कंट्रोलर जीएम नेगी का कहना है कि एनसीवीटी आइटीआइ ट्रेडों में दाखिले के लिए पहली मेरिट लिस्ट 25 जुलाई के बाद जारी की जाएगी। फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 15 जुलाई निर्धारित है। तकनीकी समस्याओं के चलते फार्म बिक्री एक दिन देरी यानी गुरुवार से शुरू होगी।

डीएवी कॉलेज में 28 तक बढ़ाई तिथि

डीएवी पीजी कॉलेज में स्नातक पाठ्यक्रम में बीए, बीएससी और बीकॉम प्रथम वर्ष में प्रवेश की अंतिम तिथि 28 जून 2019 कर दी गई है। विद्यार्थी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन कर सकते हैं। प्रवेश की जानकारी देते हुए कॉलेज मीडिया प्रभारी डॉ. हरिओम शकर ने बताया कि मंगलवार को छात्र संगठन और कॉलेज प्रशासन के साथ एक बैठक में यह निर्णय लिया गया।

बैठक में अतिरिक्त मुख्य नियंता डॉ. गोपाल क्षेत्री के अलावा डॉ. अखिलेश बाजपेई, डॉ. हरिओम शकर के साथ छात्र संघ अध्यक्ष जितेंद्र बिष्ट, महासचिव शूरवीर सिंह, विश्वविद्यालय प्रतिनिधि अंजलि चमोली आदि उपस्थित रहे। प्राचार्य डॉ. अजय सक्सेना ने बताया कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) की 10 फीसद आर्थिक आरक्षण नीति निदेशक उच्च शिक्षा के स्तर पर लंबित है। निदेशक के आदेश जारी होते ही कॉलेज में इसे लागू किया जाना है।

27 से नहीं होगी बीटेक की काउंसलिंग

उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय में बीटेक की काउंसिलिंग 27 जून से शुरू नहीं होगी। क्योंकि प्रदेश सरकार की ओर से ईडब्ल्यूएस आरक्षण पर अभी तक कोई निर्णय नहीं हुआ है, जबकि इंजीनियरिंग में दाखिले के दौरान आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को 10 फीसद आरक्षण देने का प्रावधान है।

यूटीयू की कुलसचिव डॉ. अनिता रावत ने बताया कि बीटेक में दाखिला प्रक्रिया ईडब्ल्यूएस आरक्षण नीति शासन की ओर से जारी होने के बाद ही प्रारंभ होगी। विदित रहे कि उत्तराखंड तकनीकी विवि की ओर से संबद्ध कॉलेजों के अलावा निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों की भी बीटेक की काउंसलिंग कराई जानी है। इसके तहत जेईई मेन के स्कोर के आधार पर सीटों का आवंटन किया जाएगा।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *