गलत कार्यों से सरकार की छवि होती है धूमिल -जानिए खबर

नैनीताल/देहरादून(ब्यूरो)। मुख्यमंत्री ने शनिवार को डा. आर. एस. टोलिया प्रशासनिक अकादमी नैनीताल में लोक सेवकों के 14वें आधारभूत प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उन्होंने लोक सेवकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि अधिकारी, कर्मचारी सरकार का आवरण होते हैं। इन्ही के व्यक्तित्व एवं कृतित्व से जनता में सरकार की पहचान होती है। अधिकारियों, कर्मचारियों के अच्छे कार्यो से जहां सरकार की अच्छी छवि बनती है।

वहीं गलत कार्यों से सरकार की छवि धूमिल भी होती है इसलिए सभी लोक सेवक नैतिक मूल्यों व कर्तव्यों को समझें। लोक सेवक अपने उत्तरदायित्यों का ईमानदारी से निर्वहन करें तथा कार्यो मे पारदर्शिता रखें। लोक सेवकों का दायित्व है कि वह समाज में सभी को साथ लेकर चलें, अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुये समाज में सामंजस्य स्थापित कर अपने दायित्वों का निर्वहन करें।

उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि सभी लोक सेवक जिन्हें जो भी दायित्व मिले उसे पूरी निष्ठा, ईमानदारी व पारदर्शिता से सकारात्मक सोच के साथ करेंगे। उन्होंने कहा कि मधुर व्यवहार के साथ जन समस्याएं इत्मीनान से सुनकर उनके समाधान के प्रयास किए जाएं। मुख्यमंत्री ने एकेडमी के प्रशिक्षण कार्यक्रमों को नजदीक से देखा तथा विभिन्न राजकीय सेवाओं के लिए चयनित अधिकारियों के सेवा से पूर्व एकेडमी मे दिये जा रहे प्रशिक्षण की जानकारी भी प्राप्त की, उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों से संवाद स्थापित कर उनका मनोबल बढाया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा कुमाऊंनी भाषा की चार पुस्तकों ‘‘धगुलि, हंसुलि, छुबकि एवं झुमकि’’ का भी विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने चिन्ता व्यक्त करते हुये कहा कि दुनिया में एक घन्टे मे एक बोली समाप्त हो रही है इसलिए हमे अपनी बोलियों व भाषा को जीवित रखने के लिए आगे आकर कार्य करने होंगे, तभी हमारी बोलियां, भाषा संरक्षित व विकसित होगी यह हमारा दायित्व भी है। इससे पूर्व मुख्यमंत्री अकादमी एवं केएमवीएम वेबसाइट का माउस दबाकर उदघाटन किया।

आयुक्त कुमायू एवं निदेशक एटीआई श्री राजीव रौतेला ने प्रशासनिक अकादमी के इतिहास एवं क्रियाकलापों की विस्तृत जानकारी देते हुये कहा कि अकादमी में उच्च गुणवत्ता पूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है, ताकि लोक सेवक दक्ष होकर अच्छे अधिकारी बनकर यहां से निकलें व अपने क्षेत्रों में जाकर अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन करें। श्री रौतेला ने बताया कि वर्तमान में 47 विभिन्न सेवाओं के अधिकारी आधारभूत ट्रेनिंग ले रहे हैं, जिनमें 13 महिला व 34 पुरूष अधिकारी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि हम अकादमी में और गुणवत्ता पूर्ण प्रशिक्षण प्रशिणार्थियों को दे सकें।

उन्होंने बताया कि मण्डल के जनपदों के एक-एक ब्लाक में 1 से 5 तक की कक्षाओं में कुमाऊंनी भाषा पुस्तकें चलाई जायेंगी, 20 हजार पुस्तकें प्रकाशित कर जनपदों को उपलब्ध करा दी गई है। इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने बेतालघाट में संचालित टेलीमेडिसन की अद्यतन जानकारी के साथ ही नैनीझील का इसरो के माध्यम से कराये गये बैथीमेट्री विश्लेषण की भी जानकारियां दी। उन्होने बताया कि जनपद में 8 प्रसव केन्द्र प्रारम्भ किये गये है साथ ही आशा कार्यकत्रियों को पोर्टल के माध्यम से भुगतान किया जा रहा है।

प्रबन्ध निदेशक कुमाऊं मण्डल विकास निगम/ उपाध्यक्ष एनडीडीए रोहित मीणा के द्वारा नैनीताल, भीमताल, नकुचियाला, सातताल के सौन्दर्यीकरण कार्यक्रम की विस्तृत जानकारियां कम्प्यूटर के माध्यम से दी गई। कार्यक्रम में विधायक संजीव आर्य, अपर सचिव माननीय मुख्यमंत्रीध्महानिदेशक सूचना डा0 मेहरबान सिंह बिष्ट, मीडिया सलाहकार मुख्यमंत्री रमेश भटट, उपाध्यक्ष केएमवीएन रेनु अधिकारी आदि मौजूद थे।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *