मेहमान नवाजी में मुख्यमंत्री ने लुटाये जनता के 68 लाख, चाय-पानी बेचने वालों की कमाई ने छूआ आसमान

देहरादून। उत्तराखंड की भाजपा सरकार द्वारा मेहमानों के चाय-नाश्ते पर जनता की गाड़ी कमाई में से 68 लाखों रुपये खर्च करने को लेकर सोशल साइटों पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। ऐसे ही हरीश ने ट्वीट किया है कि ‘इससे ऐसे में लगता है कि चाय-पानी बेचने वालों की कमाई आसमान छू रही है।’

 

गौरतलब है कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा ने जीत हासिल की थी। इसके बाद त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री के रूप में 18 मार्च, 2017 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। आरटीआई कार्यकर्ता हेमंत सिंह गौनियों ने 19 दिसंबर, 2017 को सीएम द्वारा चाय-पानी के मद में किए गए खर्च के बारे में जानकारी मांगी थी।

 

चाय-पानी पर कुल 68,59,865 रुपये खर्च

राज्य सचिवालय प्रशासन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, उत्तराखंड सरकार ने 11 महीनों में चाय-पानी पर कुल 68,59,865 रुपये खर्च किए। यह राशि मंत्रियों और वििभन्न विभागों के अधिकारियों द्वारा अतिथियों के आवभगत में खर्च की गई। चुनावों में भाजपा ने 70 सदस्यीय विधानसभा में 57 सीटें हासिल की थीं। वहीं वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े रहे।

 

2002 में चुनाव जीतकर पहली बार विधायक

गौरतलब है कि त्रिवेंद्र रावत डोईवाला से जीतकर तीसरी बार विधायक बने थे। वह वर्ष 2002 में चुनाव जीतकर पहली बार विधायक बने थे। पिछले विधानसभा के लिए हुए चुनावों में भी वह जीते थे। उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दोनों का करीबी माना जाता है। त्रिवेंद्र सिंह रावत बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव के साथ ही झारखंड के प्रभारी भी रह चुके हैं। राजनीति में कदम रखने से पहले वह पत्रकारिता में भी हाथ आजमा चुके थे।

एक न्यूज पेपर में छपी खबर के अनुसार बता दें कि सोशल साइटों पर लोगों ने इस खर्च पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। किसी ने कहा कि ‘अब की बार रिफ्रेशमेंट सरकार।’ आलोक कुमार सिंह ने चुटकी लेते हुए लिखा, ‘राष्ट्रवादी नाश्ता है भाई।’ हरीश ने ट्वीट किया, ‘इससे ऐसा लगता है कि चाय-पानी बेचने वालों की कमाई आसमान छू रही है।’

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *