बाबा हरदेव जी की 66वें जन्म दिवस पर पुरोला में सैकड़ों सेवादारों ने की सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की साफ-सफाई -जानिए खबर

पुरोला। जनपद उत्तरकाशी के पुरोला ब्रान्च के सैकडों सेवादार भाई बहिनों से सद्गुरू बाबा हरदेव जी की 66वीं जन्म दिवस पर राजकीय बर्फियालाल जुवठा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पुरोला में सफाई अभियान चलाया। अस्पताल के प्रभारी डा0सुभाष के साथ ब्रांच के संयोजक गोपाल सिंह रावत सेवादल के अधिकारी जयवीर व सैकड़ों लोगों ने इस अभियान में भाग लिया।

प्रत्येक साल अस्पताल की सफाई के लिए मिशन द्वारा चलाया अभियान लोगों के लिए एक प्रेणा का केंद्र बना।शहर के लोगों ने इस कार्या के लिए निरंकारी मिशन की भूरिभूरी प्रसंसा भी की। सद्गुरु बाबा हरदेव सिंह जी महाराज ने कहा कि प्रदूषण अंदर हो चाहे बाहर दोनों हानिकारक है। निरंकारी बाबा जी ने पूरे विश्व को प्रेम सूत्र में बांधने का काम किया।

Samudayik Swathaya Center

ज्ञातव्य हो कि निरंकारी बाबा पूरे विश्व की मानव जाति को वे प्यार करते थे। जिसकी भी नजर बाबा जी पर पड़ जाती थी वह बाबाजी का मुरीद हो जाता था उसका कारण यह था कि वे हर एक को प्यार करते थे। पूरा संसार आज द्वेष नफरत अहंकार की आग में झुलस रहा। उस आग को बुझाने का काम आज पूरे विश्व में निरंकारी मिशन कर रहा है। मिशन समाज में भी बढ़चढ़ कर अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा। चाहे कोई दैवीय आपदा हो या जरूरत मन्द को खून की जरुरत हो। मिशन निःस्वार्थ सेवा करता है।

अब तक पूरे विश्व में जिनीज बुक में खून दान करने वाला मिशन है लगभग 11 लाख यूनिट खून अब तक दान कर चुका है। यदि कभी की किसी को भी रक्त की जरूरत होती है हर समय सेवा के लिए तैयार रहता है। ऐसा ही जज्बा पुरोला ब्रांच के सभी साध संगत ने अस्पताल की सफाई करते हुए हर एक के दिलों में जगह बनाई है। संयोजक गोपाल सिंह चैहान ने बताया कि ऐसी सेवाएं धीरे धीरे सभी जगह चलायी जाऐगी। समस्त संगत ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

गौरतलब हो कि निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में फाउंडेशन द्वारा 2003 से समय-समय पर स्वच्छता और वृक्षारोपण अभियान चलाये जा रहे है। वर्ष 2010 से विभिन्न सामाजिक गतिविधियां जैसे कि ऐतिहासिक स्मारकों, समुद्री तटों और नदियों के किनारे, अस्पतालों, सार्वजनिक स्थानों और विशेष रूप से प्रमुख रेलवे स्टेशनों को साफ-सुथरा बनाने के लिए पिछले 6-7 वर्षों से लगतार स्वच्छता अभियान चलाये जा रहे हैं।

वहीं इन प्रयासों को जन-साधारण और भारत सरकार द्वारा बहुत सराहा गया है। अपने आदर्शों को व्यावहारिकता के धरातल पर मूर्त रूप देते हुए जैसा कि ‘जीवन की सार्थकता तभी है, अगर यह दूसरों के लिए जिया जाए’। संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के मानव कल्याण के दृष्टिकोण से निर्देशित है, जिसका मानव के प्रति भाव है कि -‘प्रदूषण भीतर हो या बहार, दोनों हानिकारक हैं’।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *