कोविड-19 की रोकथाम के लिए तानाशाह ने दिये गोली मारने के आदेश -जानिए खबर

कोविड-19 रोकथाम में नॉर्थ कोरिया का मामला सबसे हटकर है। बता दें कि तानाशाह किम जोंग उन ने देश में वायरस की रोकथाम के लिए चीन की तरफ से आने वालों को गोली मारने के आदेश दिए हैं। साउथ कोरिया में तैनात अमेरिकी फौज के कमांडर ने शुक्रवार को ये जानकारी दी है। ज्ञातव्य हो कि वहां अभी तक एक भी कोविड संक्रमित को मामला नही है।

जानकारी के मुताबिक, पूरी दुनिया कोरोना महामारी की चपेट में है और अपने-अपने तरीके से लड़ रही है। वहीं नॉर्थ कोरिया की कमजोर स्वास्थ्य सेवाएं महामारी से लड़ने में नाकाम साबित हो रही है। बीमारी के फैलने के बाद से किम ने अब तक देश में एक भी मामले की पुष्टि नहीं की है। इतना ही नहीं, कोरोना को रोकने के लिए नॉर्थ कोरिया ने चीन से सटी सीमा जनवरी में ही बंद कर दी थी। जुलाई में नॉर्थ के अधिकारियों ने कहा था कि इमरजेंसी को सर्वोच्च स्तर तक ले जाया गया है।

नॉर्थ कोरिया और चीन मित्र देश हैं। किम कई बार ट्रेन से चीन जा चुके हैं। नॉर्थ बड़ी मात्रा में चीन से सामान इम्पोर्ट करता है। यूएस फोर्स कोरिया के कमांडर रॉबर्ट अब्राम्स ने एक ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में कहा कि सीमा बंद होने से सामानों की स्मगलिंग बढ़ी है। इसे रोकने के लिए अधिकारियों को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है।

नॉर्थ कोरिया ने सीमा से सटे एक या दो किमी के इलाके में नया बफर जोन बनाया है। उन्होंने वहां स्पेशल ऑपरेशन फोर्स (एसओएफ) तैनात की है। इस फोर्स को आदेश दिए गए हैं कि बफर जोन में दिखने वाले को गोली मार दें। अब्राम्स के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया न्यूक्लियर प्रोग्राम के चलते पहले से ही आर्थिक प्रतिबंधों से जूझ रहा है।

बॉर्डर बंद होने से चीन से होने वाले उसके आयात में 85% तक गिरावट आई है। वहीं, नॉर्थ कोरिया टाईफून (चक्रवाती तूफान) मायसाक के प्रभावों से भी उबरने की कोशिश कर रहा है। इसमें दो हजार से ज्यादा घर तबाह हो गए थे।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *