योनी का ढीलेपन एवं पेशाब पर नियंत्रण खो देना की समस्या से परेशान महिलाओं के लिए बिना ऑपरेशन इलाज सम्भव -जानिए खबर

देहरादून। योनी का ढीलेपन एवं पेशाब पर नियंत्रण खो देने की समस्या से पीड़ित महिलाओं के लिए खुशखबरी है कि अब उन्हें बिना ऑपरेशन भी इन बीमारियों से मुक्ति पा सकती हैं।

बता दें कि महिला रोग विशेषज्ञ और आइवीएफ विशेषज्ञ डॉ. प्रीति जिंदल ने रविवार को राजपुर रोड स्थित होटल में हुई एक पत्रकार वार्ता में बताया कि 50 प्रतिशत महिलाएं एक खास उम्र के बाद इस समस्या से जूझती हैं।

जिससे उन्हें रोजमरा की जिन्दगी में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उनके लिए यह एक अच्छी खबर है कि वे अपना जीवन खुशी से बिता सकें।

वहीं डॉ. जिंदल इस समस्या से झूज रही महिलाओं के लिए बताया कि ऐसा अक्सर बच्चे पैदा होने के बाद या उम्र के लिहाज से हार्मोन में तब्दीली के कारण होता है। इस बीमारी का इलाज इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तकनीक (हाईफेम) के जरिए हो सकता है। इसमें किसी भी किस्म के ऑपरेशन या चीरफाड़ की जरूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि हाईली फोक्सड इलैक्ट्रोमैगनेटिक टेक्नोलॉजी (एमसैला) टच क्लीनिक मोहाली में शुरू हो चुका है। यह इस तकनीक से इलाज करने वाला देश का पहला अस्पताल है।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply