व्यापारियों के दून में खिले चेहरे; महापौर ने किया लाइसेंस शुल्क निरस्त -जानिए खबर

देहरादून। व्यापारियों के लिए सिरदर्द बने लाइसेंस शुल्क को फिलहाल महापौर सुनील उनियाल गामा ने निरस्त कर दिया है। साथ ही महापौर ने शुल्क पर दोबारा कसरत होगी और इससे पहले व्यापारियों की मंशा जाननी जायेगी तथा राय-मश्वहरे के लिए भी बुलाया जाएगा।

मीडिया जानकारी के अनुसार इन प्रतिष्ठानों व वाहनों को जैसे बैंकट हॉल, होटल लॉजिंग, गेस्ट हाउस, रेस्टोरेंट, अस्पताल, नर्सिंग होम, प्रसूति गृह, पैथोलॉजी सेंटर, सीटी स्कैन-एक्स रे सेंटर, डाईग्नोस्टिक सेंटर, मेडिकल शॉप, आयुर्वेदिक शॉप, डेंटल क्लीनिक, प्राइवेट क्लीनिक, प्राइवेट पशु चिकित्सा क्लीनिक। साथ ही परिवहन से संबंधित ट्रांसपोर्ट एजेंसी, ऑटो, बस, विक्रम, ट्राली, टैंकर, टैक्सी, ऑटो सेल्स एंड सर्विस सेंटर, साइकिल व रिक्शा बिक्री दुकान के साथ ही पेट्रोलियम से संबंधित पेट्रोल पंप, जनरेटर डीजल व्यवसायिक, पेट्रोलियम व मोबिल ऑयल पदार्थ की दुकानें को इस लाइसेंस शुल्क से फिलहाल राहत मिली है।

ज्ञातव्य हो कि लगातार विरोध होने एवं व्यापारियों की ओर से तीन फरवरी को देहरादून बाजार बंद के एलान के बाद सोमवार को महापौर सुनील उनियाल गामा ने फिलहाल लाइसेंस शुल्क निरस्त करने के आदेश दिए।

ज्ञातव्य हो कि व्यापारियों की कमर मंदी से पहले ही टूटी हुई है, ऐसे में लाइसेंस शुल्क उनके लिए नई चोट जैसा है। व्यापारियों ने कहा कि जब वकीलों से लाइसेंस शुल्क वापस ले लिया गया है तो फिर व्यापारी को ही क्यों परेशान किया जा रहा है।

हंगामे के बीच ही महापौर गामा भी वहां पहुंच गए। व्यापारियों ने उन्हें बाहर ही घेर लिया और अपना ज्ञापन दिया। व्यापारी एवं वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल गोयल भी इस बीच निगम आ पहुंचे। महापौर ने चारों तरफ से बने दबाव व शुल्क की प्रस्तावित दरों को अव्यवहारिक मानते हुए फिलहाल इसे निरस्त करने का आदेश दिया।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *