नोएडा दिया जाएगा उत्तराखंड के छात्रों को एचसीएल का अर्ली कॅरियर प्रोग्राम प्रशिक्षण

देहरादून। HCL का अर्ली कॅरियर प्रोग्राम, टेकबी एक वर्क-इंटीग्रेटेड उच्च शिक्षा का कार्यक्रम है, जो सरकार के ‘स्किल इंडिया’ मिशन में योगदान देता है। 10$2 विद्यार्थियों के लिए एचसीएल की न्यू पीपुल स्ट्रेट्जी के तहत यह विद्यार्थियों को भविष्य के कौशल प्रदान कर आईटी इंजीनियरिंग की नौकरियां प्रस्तुत करता है। यह कार्यक्रम विद्यार्थियों को एचसीएल में प्रवेश स्तर की आईटी की नौकरियों के लिए टेक्निकली और प्रोफेशनली तैयार करता है।

विद्यार्थी 12 महीने का विस्तृत प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं और सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनते हैं। एचसीएल के साथ काम करते हुए विद्यार्थी आईटी प्रोग्राम में मास्टर्स के लिए नामांकन करा सकते हैं, जो प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों जैसे बिट्स, पिलानी और सतरा यूनिवर्सिटी द्वारा प्रदान किया जाता है।

जो विद्यार्थी इस कार्यक्रम में शामिल होना चाहते हैं, उन्हें मैथमैटिक्स को अनिवार्य विषय बनाकर 12वीं की परीक्षा में कम से कम 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करने जरूरी हैं। कार्यक्रम के लिए नामांकन कराने के इच्छुक विद्यार्थियों को प्रवेश परीक्षा में बैठना होगा।

परीक्षा से पहले विद्यार्थियों को उनके माता-पिता के साथ सामूहिक सत्र या फिर व्यक्तिगत रूप से काउंसलिंग दी जाएगी। यह कार्यक्रम क्लासरूम प्रशिक्षण एवं ऑन-द-जॉब ट्रेनिंग का मिश्रित अनुभव देता है और कार्यक्रम पूरा होने पर विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर बनाता है। प्रशिक्षण की पूरी अवधि में नामांकित विद्यार्थियों को 10,000 रु. प्रतिमाह का स्टीपेंड भी दिया जाता है।

इस अभियान के बारे में, श्री संजय गुप्ता, एक्ज़िक्यूटिव वाईस प्रेसिडेंट, एचसीएल टेक्नॉलॉजीज़ एवं प्रोग्राम डायरेक्टर, एचसीएल न्यू विस्टास ने कहा, ‘‘हमें कक्षा 12 उत्तीण करने वाले विद्यार्थियों के लिए अर्ली कॅरियर के रूप में एचसीएल के टेक बी प्रोग्राम की घोषणा करने की खुशी है। इस कार्यक्रम की शुरुआत हमने 2017 में की और इसके लिए अभी तक बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली है।

इस प्रोग्राम के साथ एचसीएल का उद्देश्य सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा की नियुक्ति और उन्हें अपने कॅरियर के प्रारंभ में ही वित्तीय आत्मनिर्भरता प्रदान करना है। विद्यार्थियों को उन अग्रणी विश्वविद्यालयों से डिग्री प्राप्त होगी, जिन्होंने इस कार्यक्रम के तहत एचसीएल के साथ साझेदारी की है। मैं कक्षा 12 के सभी प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को परामर्श देता हूँ कि वो इस कार्यक्रम का लाभ उठाकर एचसीएल के साथ अपना ग्लोबल कॅरियर शुरू करें।’’

  • अर्ली कॅरियर ट्रेनिंग प्रोग्राम के साथ कंपनी वर्तमान एवं संभावी ग्राहकों को सेवाएं देने के लिए टेलेंट पूल जोड़ेगा।
  • अब तक 500 से ज्यादा विद्यार्थी इस कार्यक्रम के लिए नामांकन करा चुके हैं और पहले बैच को एचसीएल में प्लेसमेंट दिया जा चुका है।

प्रमुख आकर्षण :

  • जॉब फर्स्ट – भारत की अग्रणी आईटी कंपनी, एचसीएल के साथ जॉब एश्योरेंस।
  • वित्तीय स्वतंत्रता – वित्तीय रूप से स्वतंत्र बनें क्योंकि स्टीपेंड पहले महीने से ही शुरु हो जाएगा।
  • उच्च शिक्षा – भारत के प्रतिष्ठित टेक्निकल संस्थानों, जैसे बिट्स पिलानी और सास्त्रा यूनिवर्सिटी से डिग्री प्राप्त करें।
  • टेकबी – एचसीएल का अर्ली कॅरियर प्रोग्राम निम्नलिखित सेट में वर्गीकृत है :
  • फाउंडेशन ट्रेनिंग प्रोग्राम – डिप्लॉयमेंट रेडी टेलेंट पूल के निर्माण के लिए टेक्निकल फाउंडेशन ट्रेनिंग।
  • टेक्नॉलॉजी/डोमेन ट्रेनिंग – किसी भूमिका से जुड़े समस्त कार्य हो सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए स्ट्रीम विशिष्ट प्रशिक्षण।
  • भूमिका विशिष्ट प्रशिक्षण – प्रोफेशनल प्रैक्टिस टर्म के दौरान सौंपे गए हैंड्स-ऑन प्रोजेक्ट वर्क। 
  • इन 12 महीनों के प्रशिक्षण के दौरान अभ्यर्थी इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी, संबंधित सॉफ्टवेयर टूल्स, प्रक्रियाओं और जीवन कौशल के मूलभूत सिद्धांत सीखेंगे।
  • प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूरा हो जाने के बाद प्रशिक्षार्थि को एचसीएल टेक्नॉलॉजीज़ में एप्लीकेशन एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर सपोर्ट, टेस्टिंग और कैड सपोर्ट जैसे प्रतिष्ठित प्रोजेक्टों में काम करने का अवसर मिलेगा।
  • वित्तीय सहायता की व्यवस्था इस प्रकार की गई है कि माता-पिता या विद्यार्थियों पर कोई भी वित्तीय भार न पड़े। यदि आप अपने प्रशिक्षण में 90 प्रतिशत या उससे अधिक अंक अर्जित करते हैं, तो शुल्क में 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी और यदि प्रशिक्षण में आपको स्कोर 85 प्रतिशत से 90 प्रतिशत के बीच रहता है, तो आपको शुल्क में 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।
  • पात्रता के लिए विद्यार्थी को बोर्ड (सीबीएसई/आईसीएसई/एनआईओएस बोर्ड/उत्तर प्रदेश/पंजाब/राजस्थान/उत्तराखंड/हरियाणा/महाराष्ट्र/तमिलनाडु/आंध्र प्रदेश/कर्नाटक/मध्यप्रदेश राज्य बोर्ड) में कम से कम 60 प्र्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • प्रवेश परीक्षाएं हर वीकेंड विविध स्थानों पर एचसीएल ऑफिसों में आयोजित की जाती हैं। प्रवेश प्रक्रिया जुलाई, 2019 के अंत तक चलेगी।
  • महाराष्ट्र के लिए प्रशिक्षण का स्थान नागपुर में होगा और उत्तराखंड एवं राजस्थान के लिए प्रशिक्षण नोएडा में दिया जाएगा।
  • योग्य विद्यार्थी वेबसाईट – https://www.hcltechbees.com/enroll-form/ पर विज़िट करके अपना ऑनलाईन नामांकन करा सकते हैं। उन्हें प्रक्रियाओं के विविध चरणों द्वारा एचसीएल ट्रेनिंग एवं स्टाफिंग सर्विसेस टीम द्वारा मार्गदर्शन दिया जाएगा।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *