परमात्मा की अनुभूति सद्गुरु की कृपा से ही सम्भवः कलम सिंह रावत

देहरादून। गुरु, गोविन्द और शिष्य का अटूट रिश्ता है। जिन्होंने गुरु की मानी उन्हीं को गोविन्द प्राप्त हुआ है। जिन्होंने गुरु की नही मानी उन्हें आज भी गोविन्द प्राप्त नही हुआ है। सद्गुरु की कृपा से ही परमात्मा की अनुभूति सम्भव है, गुरु की कृपा ही हमें अंधरे से प्रकाश की ओर ले जाती है, जिससे हमारा जीवन सफल होता है।
Nirankari Satsangat Dehradunउक्त उद्गार सन्त निरंकारी भवन में विशाल संत्सग समारोह को सम्बोधित करते हुए ब्रांच संयोजक श्री कलम सिंह रावत जी ने सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज का पावन संदेश देते हुए व्यक्त किये। भक्ति के मर्म पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने आगे अपने विचारों में कहा कि हमें मानुष जन्म किसलिए मिला है और इसकी क्या अहमियत है? इसकी विशेषता क्या है? जब मनुष्य को ब्रह्म की अनुभूति होती है तो यह समझ सद्गुरु की कृपा से प्राप्त होती है।

God is godsउन्होंने कहा कि निरंकारी मिशन में अप्रैल और मई के महीने की बड़ी अहमितता है। 24 अप्रैल को ‘मानव एकता दिवस’ मनाता है। गुरु सिख गुरु को रिझाने के लिए गुरु के आदेशों-उपदेशों को जीवन में अपनाता हुआ विश्व को प्रेम, नम्रता, सहनशीलता, एकत्व का संदेश देता है।

उन्होंने आगे कहा कि जब सद्गुरु खुश होता है तो सेवा देता हैं और गुरुसिख का गुरु के प्रति प्यार और समर्पण ही उसके जीवन का ध्येय बन जाता है। उसका हर कर्म गुरुमत के अनुसार होता है। जिससे वह सद्गुरु को रिझा पाये फिर उसके लिए ये सारा संसार ही अपना परिवार बन जाता है। उसके हृदय में प्यार इस कदर भर जाता है कि किसी नकारात्मक भाव का कोई स्थान ही नही रहता। फिर गुरुसिख की भी वही अवस्था हो जाती है और गुरुसिख गुरु के साथ इकमिक हो जाता है।

सत्संग समापन से पूर्व अनेकों प्रभु-प्रेमियों, भाई-बहनों एवं नन्हे-मुन्ने बच्चों ने गीतों एवं प्रवचनों के माध्यम से निरंकारी माता सुदीक्षा जी महाराज की कृपाओं का व्याख्यान कर संगत को निहाल किया। मंच का संचालन पूज्य अमित भट्ट जी ने किया।

भगवत प्रसाद जोशी एवं सुशील

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply