पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने डेबिट कार्ड लॉन्च करने के लिए मास्टरकार्ड के साथ की साझेदारी -जानिए खबर

साझेदारी का उद्देश्य ग्राहक को एक अलग उत्पाद की पेशकश करना और उनकी क्षमताओं में वृद्धि करने के साथ ही उनमें विश्वास को और मजबूत करना है

देहरादून। भारत के सबसे बड़े भुगतान बैंक पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) ने वर्चुअल और फिजिकल डेबिट कार्ड जारी करने के लिए मास्टरकार्ड के साथ साझेदारी की है। इस साझेदारी के तहत पीपीबीएल मास्टरकार्ड के बेहतरीन मोबाइल और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) क्षमताओं का उपयोग करने में सक्षम होगा और अपने ग्राहकों को डिजिटल लेनदेन के लिए उच्च स्तर की सुरक्षा प्रदान करेगा।

शुरूआत में पीपीबीएल अपने नए ग्राहकों को मास्टरकार्ड वर्चुअल डेबिट कार्ड जारी करेगाद्य इससे ग्राहक सभी ऑनलाइन लेन-देन बहुत ही सुरक्षित रुप से कर सकेंगे। ऑनलाइन लेन-देन रोजमर्रा की खरीदारी के लिए एक तेज, आसान और सुरक्षित माध्यम है।

जल्द ही ग्राहकों को फिजिकल कार्ड के लिए अनुरोध करने का विकल्प भी उपलब्ध होगाद्य मास्टरकार्ड की चिप-आधारित तकनीक द्वारा समर्थित यह कार्ड ग्राहकों को काॅन्ट्रैक्टलेस-इन-स्टोर लेनदेन करने में सक्षम बनाता है। इसके अतिरिक्त वे दुनिया भर में 1 मिलियन से अधिक एटीएम पर नकदी निकालने में भी सक्षम होंगे।

इस साझेदारी पर बात करते हुए पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के सीईओ और प्रबंध निदेशक सतीश कुमार गुप्ता ने कहा, “हम देश में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। हम अपने ग्राहकों को डिजिटल भुगतान के लिए उनकी पसंद और सुविधा के अनुसार कोई भी तरीका चुनने के लिए उन्हें अधिकतम विकल्प प्रदान करना चाहते हैं, और मास्टरकार्ड के साथ हमारी साझेदारी इसी दिशा में एक कदम है।”

साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए मास्टरकार्ड के दक्षिण एशिया के डिवीजन प्रेसिडेंट पोरूश सिंह ने कहा, श्श् अन्य देशों की तुलना में भारत में डिजिटल भुगतान का चलन तेजी से बढ़ रहा है, लेकिन अभी भी 90रू खुदरा लेनदेन नकदी में होता है। मास्टरकार्ड डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के भारत सरकार के प्रयासों में सहयोग को लेकर प्रतिबद्ध है। इस दिशा में आगे बढ़ते हुए मास्टरकार्ड अपने एकीकृत वैश्विक भुगतान प्रणाली की सुविधा पेटीएम पेमेंट्स बैंक के साथ साझा कर रहा है, ताकि कार्डधारकों को इलेक्ट्रॉनिक भुगतान करने के सबसे सुरक्षित तरीके तक पहुंच सुनिश्चित किया जा सके।

अपने ग्राहकों (खुदरा और कॉरपोरेट दोनों) को प्रदान की जाने वाली सेवाओं में इस नवीनतम सुविधा के साथ पीपीबीएल ने 500 मिलियन से अधिक भारतीयों को अर्थव्यवस्था की मुख्यधारा में लाने के अपने उद्देश्य की ओर एक और मजबूत कदम उठाया है। अपने मजबूत वितरण नेटवर्क द्वारा समर्थित पीपीबीएल के पास पहले से ही देश का सबसे तेजी से बढ़ता बैंक खाता आधार है और इसने हाल ही में यह भी घोषणा की है कि इसका लक्ष्य वित्त वर्ष 2020-21 में 10 मिलियन से अधिक डिजिटल डेबिट कार्ड जारी करना है।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक भारत में डिजिटल बैंकिंग में अग्रणी है और नियमित रूप से अपने प्रतिद्वंदियों से कई मापदंडों पर आगे रहा है। बैंक के कार्य को सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) द्वारा भी सराहा गया है। 100 करोड़ के डिजिटल लेनदेन में सहयोग के लिए इसे डिजिटल पेमेंट्स अवार्ड प्रदान किया गया हैद्य यह 100 करोड़ से अधिक की लेनदेन करने वाली श्रेणी में एकमात्र बैंक है। बैंक अपने 300 मिलियन से अधिक डिजिटल वॉलेट्स, 220 मिलियन स्टोर्ड वैल्यू कार्ड और प्लेटफॉर्म पर 57 मिलियन बैंक खातों के साथ अग्रणी बना हुआ है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *