बॉर्डर पर बसे लोगों को सनी से बड़ी उम्मीद

गुरदासपुर सीट पर पंजाब में अभिनेता सनी देयोल को भाजपा द्वारा प्रत्याशी बनाया गया है। वहीं अभिनेता सनी देयोल को भाजपा द्वारा यहां से प्रत्याशी बनाए जाने के बाद यह सीट सुर्खियों में है। बता दें कि सनी देयोल का मुकाबला कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व मौजूदा सांसद सुनील जाखड़ से है और यह मुकाबला बेहद खास और रोमांचक भी चला रहा है।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक सनी अपने अंदाज में कांग्रेस के मौजूदा सांसद सुनील जाखड़ को कड़ी चुनौती दे रहे हैं। सनी देयोल पिछले माह ही भाजपा में शामिल हुए हैं, लेकिन राजनीति के माहिर खिलाड़ी जाखड़ के लिए उन्‍होंने मुश्किल खड़ी कर दी है।

चुनावी माहौल गर्माने के बावजूद पाकिस्तान से सटे सीमावर्ती क्षेत्रों में सन्नाटा है। पठानकोट जिले में भारतीय सीमा के आखिरी गांव सिंबल सकोल की रानी देवी और कांता देवी कहती हैं कि उन्हें किसी भी पार्टी के नेता पर अब भरोसा नहीं रहा। यह पूछने पर कि वोट किसे देंगी, दोनों उलटा सवाल करती हैं कि तुस्सी दसो कित्थे वोट पावां (आप ही बताओ किसे वोट दें)? काफी कुरेदने पर धीमे से कहती हैं कि देखो जी, खन्ना ने बहुत काम किया।

वह नेता तो नहीं था, इसलिए हमारा वोट सनी को ही जाएगा। क्या पता वह तरना दरिया पर पुल बनवा दे। क्‍योंकि खन्ना ने रावी और उज दरिया पर पुल बनवा दिए जिसके बारे में हम सोच भी नहीं सकते थे। रानी और कांता दरअसल स्व. विनोद खन्ना की बात कर रही थीं।

पांच बार सांसद रहीं कांग्रेस की सुखबंस कौर भिंडर को हराने वाले अभिनेता विनोद खन्ना अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र में आज भी उनकी चर्चा सबसे अधिक है। यहां से चार बार जीते खन्ना को लोग पुलों का बादशाह कहते हैं। अब एक और अभिनेता यानी सनी देयोल से भी वे इसी तरह की उम्मीद लगा रहे हैं।

सकोल से कुछ दूरी पर स्थित तरना दरिया पर पीपे का पुल है और बारिश होने पर बीएसएफ इस पुल को हटा देती है जिससे गांव वालों को काफी दिक्कत होती है। काफी ऊंचाई पर स्थित इस गांव से एक किलोमीटर आगे पाकिस्तान शुरू हो जाता है।

यहां सीमा सुरक्षा बल की 132वीं बटालियन की चैकी है जहां से पाक का गांव लेलियन और पाकिस्तानी झंडा दिखता चैकी में दूध पहुंचाकर लौट रहे तरसेम लाल कहते हैं कि जाखड़ माड़ा (माड़ा यानी खराब) बंदा नहीं है, लेकिन दो साल में कैप्टन सरकार ने निराश किया है। वोट किसे दूंगा, यह बताने वाली बात नहीं है क्योंकि कई बार वोट देने के आधा घंटा पहले मूड बदल जाता है।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply