लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को पुलिस ने खदेड़ा; चालान भी काटे -जानिए खबर

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लागू किए गए लॉकडाउन की एक दिन पहले धज्जियां उड़ने के बाद सिस्टम मुस्तैद नजर आया। हालांकि, सुबह के वक्त जरूरी वस्तुओं की खरीद को दी गई तीन घंटे की ढील के दरम्यान लोगों की आवाजाही रही, लेकिन इसके बाद पुलिस प्रशासन सक्रिय हुआ और सड़कों पर बेवजह घूमने वालों को खदेड़ना शुरू कर दिया गया। साथ ही वाहनों को भी रोका गया। नतीजतन, इसके बाद सभी सड़कों, बाजारों और यहां तक कि गली-मुहल्लों में सन्नाटा पसरा रहा।

विभिन्न स्थानों पर लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के पुलिस ने चालान काटे, जबकि बिना वजह शहरों में निकलने वालों को सबक सिखाने के लिए उन्हें ऊठक-बैठक कराई गई। साथ ही ऐसे लोगों को परिवार और समाज का दुश्मन करार देते हुए सोशल मीडिया पर इनकी तस्वीरें वायरल की गईं।

सरकार और शासन लॉकडाउन को लेकर सभी जिलों के डीएम समेत अन्य अधिकारियों से फीडबैक लेते रहे। जहां कुछ कमियां नजर आईं, उन्हें दूर करने के निर्देश दिए जाते रहे। कुल मिलाकर लॉकडाउन पूरी तरह सफल रहा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सभी राज्य सरकारों ने लॉकडाउन घोषित कर दिया है। ट्रेन, बस के बाद हवाई सेवा भी बंद हो गई हैं। लिहाजा, सभी अगले 21 दिन अपनों के लिए अपनों की खातिर एक ही स्थान पर रहें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशवासियों का जीवन सुरक्षित रहे, यह सरकार की प्राथमिकता है। यदि सख्ती करनी पड़ी तो वह भी की जाएगी। उन्होंने बताया कि अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि जो बुजुर्ग दंपत्ती होटल, रेस्तरां से भोजन मंगाते हैं, ऐसे लोगों की भी चिंता की जाए। लॉकडाउन के तीसे दिन सुबह सात से 10 बजे तक बैंक खुले रखे गए तो जरूरी सामान की खरीदारी को मुख्य स्थानों पर दुकानें भी। इस दरम्यान गढ़वाल मंडल में जगह-जगह भीड़ नजर आई, मगर वह समय रहते छंट गई।

देहरादून में जो लोग आवश्यक सेवा के तहत आवाजाही की मांग कर रहे थे, उन्हें पूरी जानकारी जुटाए बिना ही छोड़ दिया गया। ऐसे में कुछ लोग बेवजह भी घूमते दिखे। गोपेश्वर, कोटद्वार, नई टिहरी में सड़कों पर बिना वजह घूम रहे लोगों को पुलिस ने फटकार लगाई। चमोली जिले में दूसरे जिलों से आने वाले यात्रियों को भी सख्ती के साथ बार्डर पर ही रोका गया। हरिद्वार में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने को पुलिस प्रशासन की टीम मुस्तैद दिखी। हुड़दंग मचाने वालों को दौड़ाने के साथ ही कई बाइकें सीज की।

हरिद्वार में औद्योगिक क्षेत्र में पूरी तरह बंदी रही और प्रशासन की ओर से फंसे लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था कराई गई। टिहरी में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 200 लोगों के चालान काटे गए, जबकि 12 बाइक सीज की गईं। गोपेश्वर में गैस एजेंसी के वितरक के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई। रुड़की क्षेत्र में 22 वाहन सीज किए गए। खुद को भीम आर्मी का प्रदेश महासिचव बताने वाले परवेज सुल्तान नामक एक युवक के वाहन को भी सीज किया गया।

कुमाऊं मंडल में भी मंगलवार को सख्ती का असर दिखा। सुबह के तीन घंटों को छोड़कर दिनभर ही पुलिस प्रशासन की टीम लॉकडाउन की सफलता को जुटी रही। रुद्रपुर में छह व्यापारियों की दुकानें 10 बजे बाद खुली मिलने पर मुकदमा दर्ज कर दुकानदारों को गिरफ्तार किया गया। बागेश्वर में मनाही के बावजूद बिना वजह टहलते मिले छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। पिथौरागढ़ में डीएम डॉ.विजय कुमार जोगदंडे ने बताया कि विदेश से आए 24 लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। ये जहां ठहरे हैं, वहीं क्वारंटाइन किया गया है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *