अतिथि शिक्षकों का वेतन 25000 से बढ़कर 35000 करने के संबंध में कुमाऊँ विवि के शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल ने की सरकार से मांग -जानिए खबर

अल्मोड़ा। कुमाऊँ विश्वविद्यालय के एस एस जे परिसर के शिक्षकों व कार्मिकों को कुमाऊं विश्वविद्यालय में रहने का विकल्प दिए जाने, संविदा व अतिथि शिक्षकों को नव सृजित सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में समायोजित किये जाने, अतिथि शिक्षकों का मानदेय 25000 से बढ़ाकर 35000 किये जाने, स्ववित्तपोषित श्रेणी के अंतर्गत संचालित पाठ्यक्रमों में पद सृजित कर समायोजित करने सहित अनेक मुद्दों पर चर्चा कर समाधान करने की मांग की है।

बता दें कि इस संबंध में कुमाऊँ विश्वविद्यालय के शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल, मुख्यमंत्री व उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत, उच्च शिक्षा सचिव आनंद वर्धन से मुलाकात कर मांग की है। वहीं राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत से मुलाकात में शीघ्र समस्याओं का समाधान करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल को समस्या का निराकरण करने का आश्वासन देते हुए कहा कि शिक्षकों व कार्मिकों को विकल्प प्रदान किया जाएगा।

इस संबंध में शिक्षा सचिव ने बताया कि शिक्षकों के संबंध में विश्व विद्यालय से आख्या उपलब्ध कराने को निर्देशित किया गया है। संविदा व अतिथि शिक्षकों के समायोजन के संबंध में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने कहा कि पत्रावली विचाराधीन है।

अतिथि शिक्षकों का वेतन 25000 से बढ़कर 35000 करने के संबंध में कहा गया कि महाविद्यालय के अतिथि शिक्षकों के समान विश्वविद्यालय के अतिथि शिक्षकों को भी 35000 मानदेय दिया जायेगा। प्रतिनिधिमंडल में भारतीय जनता पार्टी बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के संयोजक डॉ नवीन भट्ट,एकता शिक्षक संघ के सचिव डॉ नंदन बिष्ट,डॉ मुकेश सामन्त, डॉ देवेंद्र सिंह धामी, डॉ रविन्द्र पाठक आदि शिक्षक शामिल थे।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *