गुरु पर्व पर ऋषिकेश में संतों पर चाकू से हमला; दो घायल, एम्स में भर्ती एक की हालत गंभीर – जानिए खबर

ऋषिकेश। मायाकुंड स्थित जनार्दन आश्रम में आए चार युवकों ने दो संतो को चाकू से हमला कर घायल कर दिया। हमले के बाद दोनों घायलों को एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है, वहीं डाक्टरों के मुताबिक एक संत की हालत गंभीर बनी है। चारों हमलावरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक ब्रह्मलीन संत माधवाश्रम महाराज का मायाकुंड में जनार्दन आश्रम (शंकराचार्य आश्रम) दंडीबाड़ा स्थित है। गुरु पर्व पर चार लोग आश्रम में आकर रुके थे। बुधवार सुबह करीब साढ़े दस बजे आश्रम के प्रथम तल में उपेंद्र कुमार शर्मा नामक युवक बरामदे में बैठकर जोर-जोर से पाठ कर रहा था।

इस बीच आश्रम के प्रबंधक केशव स्वरूप ब्रह्मचारी ने उन्हें कक्ष के भीतर जाकर पाठ करने को कहा। इस बात से आक्रोशित उपेंद्र ने केशव स्वरूप ब्रह्मचारी पर चाकू से हमला कर दिया।

उन्हें बचाने के लिए आश्रम के संत विज्ञानानंद तीर्थ वहां पहुंचे तो उपेंद्र और उसके तीन अन्य साथियों ने स्वामी विज्ञानानंद तीर्थ को पकड़कर उनके पेट में चाकू घोंप दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए। इस बीच आश्रम में मौजूद लोगों ने हमलावरों को दबोचा लिया। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने चारों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया गया।

कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने बताया कि गिरफ्तार हमलावरों में उपेंद्र कुमार शर्मा (24 वर्ष) पुत्र केवल राम शर्मा निवासी सपहा सहरामऊ उत्तरी ग्राम थाना तहसील पूरनपुर जिला पीलीभीत, संदीप शर्मा (22 वर्ष) पुत्र नरेश कुमार निवासी ग्राम भबूत गढ़ थाना बिलासपुर जिला यमुनानगर हरियाणा, शुभम शर्मा (25 वर्ष) पुत्र राजकुमार निवासी ग्राम कटौली थाना फरकपुर जगाधरी जिला यमुनानगर हरियाणा, रजत शर्मा (23 वर्ष) पुत्र राजीव कुमार शर्मा निवासी ग्राम अतर छेड़ी थाना बिशारतगंज बरेली शामिल है।

हमले में घायल केशव स्वरूप ब्रह्मचारी (30 वर्ष) और विज्ञानानंद तीर्थ (65 वर्ष) को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में भर्ती कराया गया है। जहां केशव स्वरूप ब्रह्मचारी और विज्ञानानंद तीर्थ का ऑपरेशन किया गया। विज्ञानानंद तीर्थ की हालत गंभीर बनी है। आश्रम के भीतर चाकूबाजी की घटना से आसपास के लोग स्तब्ध है।

देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल ने धार्मिक संस्था में इस तरह की घटना की निंदा करते हुए आरोपितों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की है। साथ ही उन्होंने आश्रम में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की भी मांग की। संत समिति ने जताया रोष है।

संत समिति ऋषिकेश ने शंकराचार्य के जनार्दन आश्रम दंडीबाड़ा मायाकुंड में आश्रम के दो संतों पर हुए जानलेवा हमले की निंदा की है। संत समिति के अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत ने कहा कि संत समिति लंबे समय से धार्मिक संस्थाओं के संरक्षण के लिए मांग करता आ रहा है।

उन्होंने कहा कि कुछ असामाजिक तत्व धार्मिक संपत्तियों को खुर्द-बुर्द करने के लिए इस तरह के षड़यंत्र रच रहे हैं। उन्होंने संबंधित मामले की जांच कर आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply