संक्रमण के शिकार से बचेंगी प्रदेश की महिलाएं; रेखा के आग्रह पर सैनेटरी नैपकिन हुआ कर मुक्त

देहरादून। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने वित्त मंत्री अरूण जेटली से महिलाओं के लिए इस्तेमाल होने वाले सैनिटरी नैपकिन को कर मुक्त करने की मांग की है। सैनिटरी नैपकिन हर महिला के लिए काफी जरूरी है। जिससे के इस्तेमाल से महिलाएं मासिक धर्म के दौरान संक्रमण का शिकार होने से बच सकती है।

उत्तराखण्ड की मंत्री रेखा आर्या के आग्रह के बाद केन्द्र सरकार ने सैनेटरी नैपकिन को सौ प्रतिशत कर मुक्त कर दिया है। उत्तराखण्ड की महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने वित्तमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि भारत की महिलाएं में उनके हितो के प्रति देशभर में जागरूकता अभियान चलाने की आज भी आवश्यकता है। महिलाएं बड़ी तादाद में आज भी अपने मासिक धर्म के समय पुराने तरीकों का इस्तेमाल करती आ रही है। जिससे मासिक धर्म के समय उनके किसी संक्रमण रोग की चपेट में आने की संभावनाएं बनी रहती है। रेखा आर्या ने कहा कि एक ओर जहां अब महिलाओ का जागरूक करने की आवश्यकता है। वहीं दुसरी ओर सरकार को भी चाहिए कि वे महिलाओं के मासिक धर्म के समय इस्तेमाल होने वाले सैनिटरी नैपकिन को कर से मुक्त कर उसे आम महिला तक पहुंचाने की वस्तु बनाए। प्रदेश की मंत्री रेखा आर्या के आग्रह के बाद महिलाओ के लिए नैपकिन को सौ प्रतिशत कर मुक्त कर दिया गया है।

महिला एंव बाल विकास मंत्री रेखा आर्या का मानना है कि सैनिटरी नैपकिन महिलाओं की एक स्वास्थ्य अनिवार्यता है। इसके इस्तेमाल से गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से बचा जा सकता है। इसके प्रति जागरूकता के लिये उन्होंने गत वर्ष तमाम स्कूली छात्राओं को निःशुल्क पैडमैन फिल्म का प्रदर्शन करवाया था। उसके बाद उन्होंने इस मुहीम को आगे बढ़ाते हुये प्रदेश के चार जनपदों में सस्ते सैनिटरी नैपकिन मुहैया कराने प्रारम्भ किये।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply