यहां गांव के लोगों में भरी हुई है देशभक्ति; ऐसे महान देशभक्तों पर गर्व करना चाहिए -जानिए खबर

हरिद्वार। शहीद राजा विजय सिंह स्मारक एवं कन्या शिक्षा प्रसार समिति ग्राम कुंजा बहादुरपुर द्वारा आयोजित स्मृति दिवस कार्यकम में पहंुच आज महामहिम उप राष्ट्रपति श्री वैकंया नायडू ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गांव के बलिदान को गौरवशााली बताया। उन्होंने कहा कि इस गांव के लोगों में देशभक्ति भरी है। ये ऐसा गांव है जिसके घर में आज की पीढ़ी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की वंशज है। हमें ऐसे महान देशभक्तों पर गर्व करना चाहिए। उन शहीदों का बलिदान ही आज हमें यहां तक लेकर आया है।

उन्होंने कहा कि राजा विजय सिंह के वीर सेनापति कल्याण सिंह का जिक्र किये बिना स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास अधूरा है। हमारी स्वतंत्रता के लिए उन शहीदों ने बलिदान दिया है। हमारे यहां आने का उद्देश्य यह ही है कि इन शहीदों के पराक्रम की गाथा सभी तक पहुंचे और युवा पीढ़ी को उनके जीवन से प्रेरणा मिले। उत्तराखण्ड सरकार पहल करे कि उत्तराखण्ड कुंजा बहादुरपुर जैसी सभी शौर्य गाथाओं को भावी पीढ़ी को बताया जाये।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय की ओर से भी यह पहल देशभर के वीरों के लिए की जानी चाहिए। भारत के ऐसे महान पुरूषों का जीवन परिचय कक्षा 12 तक के छात्रों के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाये। कुंजा बहादुरपुर के वीर शहीदों का जिक्र किये बिना भारत का इतिहास अधूरा है। उत्तराखण्ड के वीरों की बड़ी संख्या आज भी भारतीय सेना में है। उन्होंने मानव संसाधन विकास मंत्री, मुख्यमंत्री तथा समिति को इस गौरवशाली जगह पर बुलाने पर आभार व्यक्त किया।

राज्यपाल बेबी रानी मोर्य ने कहा कि उत्तराखण्ड की भूमि वीर भूमि है। 1857 की क्रांति से पहले ही आजादी की लड़ाई का बिगुल फूंकने वाले कुंजा बहादुरपुर गांव के वीर शहीदों ने क्रांति की शुरूआत कर दी थी। मातृ भूमि की रक्षा के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने वालों के गांव बुलाने पर राज्यपाल ने समिति का आभार व्यक्त किया। भारत वर्ष को स्वतंत्र कराने के लिए जिन असख्य लोगों ने अपना बलिदान दिया है हम उनके सपनों के भारत का निर्माण करे। इस कार्यक्रम से लोगों में देश भक्ति की भावना जागृत होगी।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि हमारे लिए बहुत ही गर्व की बात है और हम गौरवान्वित होेते हैं यह सुनकर कि हमारे राज्य का गांव कुंजा बहादुरपुर ऐसा गाँव है जो देश की आजादी के 126 साल पहले ही देश की आजादी के लिए फिरंगियों के खिलाफ लड़ने लगा था। गांव की हर मां की संतान स्वंतत्रता संग्राम सेनानी की संतानों की मां है। यह गांव शौर्य की पराकाष्ठा है।

उन्होंने शहीद स्मारक को भव्य रूप में झबरेड़ा में बनाये जाने की घोषणा की। इस अवसर पर केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक, उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ धन सिंह रावत, खानपुर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन, विधायक रूड़की श्री प्रदीप बत्रा, झबरेड़ा विधायक श्री देशराज कर्णवाल, भगवानपुर विधायक श्रीमती ममता राकेश सहित समस्त ग्रामवासी मौजूद रहे।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *