टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ने ई-बोली के माध्यम से 800 करोड़ रु. के कॉरपोरेट बांड सफलतापूर्वक किए हासिल -जानिए खबर

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ने ई-बोली के माध्यम से 10 गुणा ओवर सब्सक्रिप्शन के साथ ऋण बाजार से 7.19 प्रतिशत की दर से 800 करोड़ रु. के कॉरपोरेट बांड सफलतापूर्वक हासिल किए

ऋषिकेश। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) ने 800 करोड़ रुपए राशि का कॉरपोरेट बांड जारी किया है। इसके बेस इश्यू का साईज (Base Issue Size) 300 करोड़ रुपए एवं ग्रीन शू ऑप्शन (Green Shoe Option) 500 करोड़ रुपए का है। इसकी बोली 22 जुलाई, 2020 को टीएचडीसीआईएल के कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में श्री जे. बेहरा निदेशक(वित्त), श्री ए.बी.गोयल, महाप्रबंधक(वित्त) एवं श्रीमती रश्मि शर्मा, कंपनी सचिव की उपस्थिति में लगाई गई।

इसका कूपन रेट (Coupon Rate) बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज-इलेक्ट्रानिक बीडिंग प्लेटफार्म के माध्यम से निकाला गया, जो 800 करोड़ रुपए का 7.19 प्रतिशत रहा तथा क्रेडिट रेटिंग एए स्टेबल (AA Stable) रही है। इसकी बोली बेस इश्यू के साइज (Base Issue Size) से 10 गुणा से अधिक ओवर सब्सक्रिप्शन के साथ अत्यधिक सफल रही। कंपनी ने विभिन्न इन्वेस्टर्स एवं अरेन्जर्स से 800 करोड़ रुपए के इश्यू साइज की तुलना में 3069 करोड़ रुपए की बोलियां प्राप्त की। इस समय चल रही महामारी ने अर्थव्यवस्था को बूरी तरह प्रभावित किया है, इस स्थिति में भी इस इश्यू ने विशिष्ट सफलता प्राप्त की है। निदेशक (वित्त) ने कंपनी के बांड इश्यू में अत्यधिक रिस्पांस दिखाने के लिए इन्वेस्टर्स को धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि इन्वेस्टर्स का टीएचडीसीआईएल की वित्तीय स्थिति एवं भावी वृद्धि की संभावनाओं पर अत्यधिक विश्वास है । पहली बार कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश से बीएसई अधिकारियों की उपस्थिति में बांड इश्यू हैंडल किया गया।

इन कॉरपोरेट बांड्स की अवधि 10 वर्षों के लिए होगी। इन बांड्स से होने वाले लाभ को अंशत: निर्माणाधीन परियोजनाओं की ऋण आवश्यकताओं, पूर्व में किए गए खर्चों को पूरा करने तथा वर्तमान ऋणों के रिफाइनेंस के लिए किया जाएगा।

श्री डी.वी.सिंह, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, टीएचडीसीआई ने उत्साह के साथ संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि टीएचडीसीआईएल को विभिन्न श्रेणी के निवेशकों से बहुत अच्छा रिस्पांस मिला है जिससे यह ओवर सब्सक्राइब हुआ है । उन्होंने यह भी कहा कि यह दर्शाता है कि कंपनी की परफार्मेंस एवं प्रगति की संभावनाओं में इन्वेस्टर्स को अत्यधिक विश्वास है।

टिहरी बांध एवं एचपीपी (1000 मे.वा.), कोटेश्वर एचईपी(400 मे.वा.) तथा गुजरात के पाटन में 50 मे.वा. की पवन विद्युत परियोजना, गुजरात के द्वारका में 63 मे.वा. की पवन विद्युत परियोजना और उत्तर प्रदेश के झांसी में 24 मेगावाट की ढुकवां लघु जल विद्युत परियोजना की कमीशनिंग के साथ ही टीएचडीसीआईएल की संस्थापित क्षमता 1537 मे.वा. हो गई है जिससे यह देश में अग्रणी विद्युत उत्पादकों में से एक बन गई है । टीएचडीसीआईएल उत्तर प्रदेश में 1320 मे.वा. के खुर्जा सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट का कार्यान्वयन कर रही है। टीएचडीसीआईएल को मिनी रत्न श्रेणी-। एवं शेड्यूल ए का दर्जा प्राप्त है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *