छात्रों द्वारा बनाए गए डिजाइन को जेल के कैदियों के साथ किया जाएगा साझा -जानिए खबर

देहरादून। जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, जो पिछले 31 वर्षों से फैशन डिजाइनिंग के शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी संस्था हैं, ने अतरक्रांति नामक सामाजिक परियोजना के लिए दिव्य ज्योति जागृति संस्थान (डीजेजेएस) के साथ अपने जुड़ाव की घोषणा की हैं , जो कैदीयों के सुधार और पुनर्वास का काम करता हैं।

दिव्य ज्योति जागृति संस्थान (डीजेजेएस) ने अपने कॉर्पोरेट कार्यालय में छात्रों के लिए एक संगोष्ठी का आयोजन किया, जिसमें प्रसिद्ध फैशन डिजाइनर सुश्री रीना ढाका और वरिष्ठ कार्यक्रम विशेषज्ञ सुश्री जया भारती उपस्थित थीं। ।

छात्रों को वेलस्पन एंड ओगिल्वी कंपनी द्वारा वित्त पोषित कार्यक्रम में 14 x 14 आकार के स्वैच से बने बिक्री योग्य उत्पादों के डिजाइन बनाने के प्रशिक्षण सत्र में भाग लिया। छात्रों द्वारा बनाए गए डिजाइन को जेल के कैदियों के साथ साझा किया जाएगा, और साथ ही स्वैच से उत्पादों को विकसित करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

इस पहल का मुख्य एजेंडा जेल कैदियों के लिए अवसर और रोजगार उत्पन्न करना है। छात्रों को सुश्री जया भारती और सुश्री रीना ढाका द्वारा प्रमाणित किया जाएगा।

जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की कार्यकारी निदेशक सुश्री रूपल दलाल ने कहा, “हम इस परियोजना के साथ जुड़कर खुश हैं। सामाजिक गतिविधियों में छात्रों को शामिल करने से उन्हें समाज के प्रति जिम्मेदारी की भावना मिलती है।”

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *