युवक का मुंह युवती कंकाल की तरफ बना चर्चा का विषय; हड़प्पा की खुदाई में मिले युवक-कंकाल

पुणे। हरियाणा के राखीगढ़ी में हड़प्पाकालीन सभ्यता की खुदाई के दौरान एक युगल के कंकाल मिले हैं। राखीगढ़ी में खुदाई का काम कर रहे पुणे के डेक्कन कॉलेज के पुरातत्वविदों ने बताया कि खुदाई के वक्त युवक (कंकाल) का मुंह युवती की तरफ था। यह पहली बार है जब हड़प्पा सभ्यता की खुदाई के दौरान किसी युगल की कब्र मिली है।

हैरानी की बात यह है कि अब तक हड़प्पा सभ्यता से संबंधित कई कब्रिस्तानों की जांच की गई, लेकिन आज तक किसी भी युगल के इस तरह दफनाने का मामला सामने नहीं आया था। राखीगढ़ी में खुदाई का काम कर रहे पुणे के डेक्कन कॉलेज के पुरातत्वविदों ने बताया कि युगल कंकाल का मुंह, हाथ और पैर सभी एक समान है। इससे साफ है कि दोनों को जवानी में एक साथ दफनाया गया था। यह निष्कर्ष हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका, एसीबी जर्नल ऑफ अनैटमी और सेल बायॉलजी में प्रकाशित किए गए थे।

खुदाई और विश्लेषण यूनिवर्सिटी के पुरातत्व विभाग और इंस्टिट्यूट ऑफ फरेंसिक साइंस, सोल नैशनल यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिसिन द्वारा किया गया। पेपर के ऑथर्स में से एक वसंत शिंदे ने बताया कि भारतीय पुरातत्वविदों ने मिलकर युगलों के दफनाने पर चर्चा की। इससे पूर्व लोथल में खोजे गए एक हड़प्पा युगल कब्र को माना गया था कि वह विधवा थी और उसे अपने पति की मौत के बाद दफनाया गया था।

वहीं विवादास्पद लोथल मामले को छोड़ दें तो, आज तक हड़प्पा कब्रिस्तानों से किसी भी कपल को दफनाने का मामला सामने नहीं आया है। यह एकमात्र युगल की कब्र होने की पुष्टि हुई है। हालांकि दूसरे पुरातत्वविदों की मानें तो दोनों के सेक्स अलग-अलग बता पाना कठिन है। हो सकता है कि दोनों युगल न हों।

पुरातत्वविदों ने कहा कि जिस तरह से युगल के कंकाल राखीगढ़ी में दफन मिले, उससे साफ है कि दोनों के बीच प्रेम था और यह स्नेह उनके मरने के बाद उनके कंकाल में नजर आया। हम सिर्फ अनुमान लगा सकते हैं कि जिन लोगों ने दोनों को दफनाया था, वे चाहते थे कि दोनों के बीच मरने के बाद भी प्यार बना रहे।

उन्होंने कहा कि युगलों के दफनाने का मामला दूसरी प्राचीन सभ्यताओं में दुर्लभ नहीं है। इसके बावजूद यह अजीब है कि उन्हें अब तक हड़प्पा कब्रिस्तान में नहीं खोजा गया। युगल कब्र में दफन मिट्टी के बर्तनों और एक झालरवाली अकीक की गुरियां मिली हैं जो शायद युगलों में से महिला के हार का हिस्सा था। दोनों कंकालों को फील्ड सर्वे के बाद डेकन कॉलेज की लैब में जांच के लिए लाया गया था।

कंकालों का लिंग पैल्विक का अध्ययन करने के बाद निर्धारित किया गया था। जिस समय उनकी मृत्यु हुई तब उनकी उम्र 21 से 35 साल की रही होगी। आदमी की लंबाई पांच फीट छह इंच और महिला की लंबाई पांच फीट दो इंच थी। दोनों की मौत एक ही समय पर हुई है। हो सकता है कि दोनों के एक साथ मरे हों और उसके बाद उन्हें दफनाया गया हो या फिर दोनों के एक साथ दफन किया गया हो जिससे उनकी मौत हुई हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *