असंतुलित विकास सरकारों की कमियां हैं जिसने बेहतर राष्ट्र को जातियों में बांटा हुआ हैः प्रो. आनंद कुमार 

नैनीताल। डी.एस.बी. परिसर के नवनिर्मित कला संकाय सेमीनार हाल में बीते दिन जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र विभाग के प्रखर प्रोफेसर आनंद कुमार ने राष्ट्र निर्माण पर व्याख्यान दिया।

उन्होंने कहा कि भारत में राष्ट्र निर्माण एवं राष्ट्र भक्ति है जिनमें राष्ट्र निर्माण के तीन मुख्य बिंदु है जिसमें सबको वोट का अधिकार एवं बराबरी का अधिकार है।

हम अपनी आजादी को बचाते हुए संस्कृति तथा सभ्यता को भी संरक्षित रख पाये है। प्रो. आनंद ने कहा कि हमारी बहुदली लोकतंत्र अपने आप में बेमिशाल है तथा हमारी आवश्यकता इन 70 वर्षों में बढ़ी है।

उन्होंने कहा कि आज भी बहुत चुनौती है जिसमें असंतुलित विकास, सरकार की कमियां, बेहतर नागरिक के निर्माण की कमी तथा विभिन्न जातियों में बंटा देश तथा पर्यावरण का विकास एक बड़ी समस्या है।

उन्होंने कहा कि हम इन्हीं उपलब्धता से दूर तथा राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका सुनिश्चित करें। जिससे हमारी विविधता में एकता की शक्ति बनी रह सके। हम राष्ट्र को विकास की तरफ ले जाये।

इस अवसर पर प्रो. आनन्द को पुष्प गुच्छ भेंट किया गया तथा प्रो. इंदू पाठक विभागाध्यक्ष ने धन्यवाद किया। प्रो. डी.एम. बिष्ट ने संचालन किया। वहीं प्रो. बी.एम. बिष्ट, प्रो. ललित तिवारी, प्रो.निर्मला बोरा, प्रो. अर्चना श्रीवास्तव, डा. प्रियंका, डा. रवि जोशी, श्री अरविन्द पडियार, कार्य परिषद सदस्य, राजीव लोचन साह, डा. सीमा चैहान, डा. दीपा, प्रो. लता, डा. बोरा सहित शिक्षक, शोध छात्र एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply