प्रशिक्षुओं ने निकटवर्ती क्षेत्रों में भ्रमण करके की लाइकेन की पहचान -जानिए खबर

नैनीताल। नेशनल मिशन ऑन हिमालयन स्टडीज, वन एवं पर्यावरण मंत्रालय भारत सरकार तथा उत्तराखंड जैव प्रौद्योगिकी परिषद्-हल्दी द्वारा प्रायोजित एवं कुमाऊं विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित तीन दिवसीय लाइकेन कार्यशाला के द्वितीय दिवस में डॉ. योगेश जोशी, जयपुर, डॉ. राजेश बाजपेई, लखनऊ, डॉ संतोष उपाध्याय एवं डॉ पैनी जोशी ने लाइकेन से सम्बंधित विभिन्न विषयों पर प्रतिभागियों को प्रशिक्षण दिया। द्वितीय दिवस पर प्रशिक्षुओं ने निकटवर्ती क्षेत्रों में भ्रमण करके लाइकेन की पहचान, उनका एकत्रीकरण एवं संरक्षण करने का भी व्यावहारिक ज्ञान भी प्राप्त किया।

बता दें कि डॉ योगेश जोशी ने लाइकेन के वर्गीकरण की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि विकसित देशों के मुकाबले भारत में प्रशिक्षित लाइकेन विशेषज्ञों की भारी कमी है अतः विशेषज्ञों द्वारा लाइकेन के अंतः विषयी शोध की महत्ता को दर्शाते हुए प्रशिक्षुयों को लाइकेन विज्ञान से सम्बन्धित विषयों पर शोध करने के लिए प्रेरित किया गया।

डॉ. बाजपेई ने लाइकेन एकत्रीकरण की विभिन्न विधियों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि लाइकेन प्रदुषण का एक बेहतर जैव-निगरानी तंत्र हो सकता है और भविष्य में विश्व तापमान में होने वाले परिवर्तन एवं उनके प्रभावों को लाइकेन के माध्यम से अध्ययन किया जा सकता है। भविष्य में होने वाले पर्यावरणीय परिवर्तनों का पूर्वानुमान लगाने में लाइकेन एक बेहतर एवं कारगर विकल्प सिद्ध हो सकते हैं।

लाइकेन की कुछ विशिष्ट प्रजातियों की अनुपस्थिति से प्रदुषण के स्तर को भी निरूपित किया जा सकता है। कार्यशाला के सयोंजक एवं आणविक विज्ञान के विशेषज्ञ डॉ. संतोष कुमार उपाध्याय ने लाइकेन की विभिन प्रजातियों के आणविक पहचान से सम्बंधित डी. एन. ए. बारकोडिंग तकनीक की विस्तृत जानकारी दी।

उन्होंने लाइकेन से डी. एन. ए. निकालने एवं उसके विस्तारीकरण से सम्बंधित पोलीमरेज चैन रिएक्शन (पी. सी. आर.) तकनीक पर व्याख्यान प्रस्तुत किया। प्रयोगशाला प्रशिक्षण के क्रम में प्रशिक्षुयों को लाइकेन की विभिन्न प्रजातियों की रासायनिक पहचान का प्रायोगिक प्रशिक्षण दिया गया। अमृता कुमारी, अंकिता त्रिपाठी, आशुतोष पालीवाल, राहुल आनंद, गरिमा चंद एवं हिमानी तिवारी ने इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में वैज्ञानिकों को सहयोग किया।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *