विश्वविद्यालय के प्रश्न पत्र में ढेरों त्रुटियां; लापरवाही पर उच्च गुणवत्ता युक्त शिक्षा पर उत्तराखण्ड में उठी अंगुली -जानिए खबर

देहरादून। श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय में उच्च गुणवत्ता युक्त शिक्षा तो दूर, महत्वपूर्ण वार्षिक परीक्षाओं के प्रश्नपत्र तैयार करने में भी घोर लापरवाही बरती जा रही है। विवि परीक्षा प्रबंधन की ओर से की गई लापरवाही का एक उदाहरण एमए की परीक्षा में देखने को मिला।

मंगलवार को एमए राजनीतिक विज्ञान अंतिम वर्ष के चैथे पेपर में न केवल अंग्रेजी और हिंदी के वाक्यों में गलतियां मिलीं, बल्कि प्रश्न पत्र में यह भी अंकित नहीं था कि दिए गए कुल 10 प्रश्नों में से कितने हल करने हैं। या सभी प्रश्न हल करना अनिवार्य है।

‘मॉडल इंडियन पॉलिटिकल थॉट’ नाम के इस प्रश्न पत्र में प्रारंभ से लेकर अंतिम तक गलतियों की भरमार है। प्रश्न पत्र में पहला और दूसरा प्रश्न एक जैसा है। पहला प्रश्न है कि ‘पाश्चात्य संपर्क का आधुनिक भारतीय राजनीतिक चिंतन पर पड़ने वाले प्रभाव का वर्णन कीजिए’।

जबकि दूसरा प्रश्न ‘आधुनिक भारत के राजनीतिक चिंतन की विशेषताओं का वर्णन कीजिए।’ दोनों प्रश्नों का आशय एक ही है। प्रश्न पत्र के सभी प्रश्न हिन्दी और अंग्रेजी में पूछे गए हैं। जैसे आधुनिक को मॉर्डन कहा जाता है, मगर प्रश्नपत्र में मेडर छापा गया है। प्रश्न नंबर तीन में श्रचनाश् को रजचना लिखा गया है। इसके अलावा भी प्रश्न पत्र में कई लिपिकीय त्रुटियां हैं।

विदित रहे कि राज्य के सभी 103 राजकीय महाविद्यालय श्रीदेव सुमन विवि से संबद्ध हैं। इसके अलावा कई अन्य निजी कॉलेज की मान्यता भी श्रीदेव सुमन विवि से है।

जानकारी मिलने के तत्काल बाद विवि के कुलपति डॉ. यूएस रावत ने विवि के परीक्षा नियंत्रक डॉ. दिनेश चंद्र को तलब कर संबंधित प्रश्नपत्र के बारे में रिपोर्ट मांगी। डॉ. यूएस रावत ने बताया कि एमए राजनीतिक विज्ञान अंतिम वर्ष के चैथे पेपर में कुछ त्रुटियां हैं।

जिसे देखते हुए तत्काल प्रभाव से पेपर सेटर को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है। प्रश्न पत्र के 10 सवालों में से पांच ही हल करने थे, उसकी जानकारी सभी सेंटरों में पेपर शुरू होते ही परीक्षा नियंत्रक ने टेलीफोन के जरिए दे दी थी। भविष्य में गलतियां न हों, इसके कड़े निर्देश दिए गए हैं।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply