बिजली, पानी और दूसरी जरूरी बिलों का भुगतान करने के लिए इस्तेमाल करें पेटीएम ऐप -जानिए खबर

– पेटीएम ऐप “स्टे ऐट होम एसेंशियल्स पेमेंट्स फीचर” से लोगों को एक ही जगह सब बिलों को भरने की सुविधा दे रहा है
– उत्तराखंड के निवासी पेटीएम ऐप पर उत्तराखंड जल संस्थान के पानी बिल जैसे जरूरी बिलों का भुगतान समय पर कर सकते हैं
– मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज करना, क्रेडिट कार्ड का बिल भरना और इंश्योरेंस का प्रीमियम भरना भी आसान हो गया है

देहरादून। कोविड-19 के फैलाव को कम करने के लिए, देश के सभी लोगों को एहतियाती दिशानिर्देशों के तहत अपने घरों में रहने की सलाह दी गई है। ऐसी स्थिति में, उत्तराखंड के निवासी अपने सभी आवश्यक बिलों का भुगतान पेटीएम ऐप पर कर सकते हैं। वे उत्तराखंड जल संस्थान के पानी के बिल चुका सकते हैं, अपने क्रेडिट कार्ड बिल का भुगतान कर सकते हैं, मोबाइल एवं डीटीएच को रिचार्ज करा सकते हैं। यही नहीं, लोग पेटीएम ऐप पर अपने अपार्टमेंट के मेंटेनेंस बिल का भी पेमेंट कर सकते हैं।

भारत के प्रमुख डिजिटल पेमेंट और फाइनेंशियल सर्विसेज प्लेटफॉर्म पेटीएम ने हाल ही में “स्टे ऐट होम एसेंशियल पेमेंट फीचर” से यूजर इंटरफेस को नया रूप दिया है। अब लोगों की हर तरह के बिलों का भुगतान करने की सभी जरूरतें सिंगल प्लेटफॉर्म पर पूरी हो सकती हैं। अब लोग बिलों के पेमेंट के लिए अलग-अलग वेबसाइट पर जाए बिना अपनी जरूरत के मुताबिक सर्विस प्रोवाइडर्स का आइकन चुन सकते हैं। शानदार ढंग से बनए गए इस ऐप से यूजर अपने मोबाइल बिल भर सकते हैं। डीटीएच रिचार्ज करा सकते हैं। बिजली का बिल भर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड आदि का भुगतान कर सकते हैं। इसमें गैस सिलिडंर बुक कराने का विकल्प भी है। यही नहीं, बीमा सेवाओं के लिए स्पेशल “बाय इंश्योरेंस” टैब भी मौजूद है।

उत्तराखंड के निवासी कुछ मिनटों में अपने अपार्टमेंट मेंटेनेंस बिल का भी भुगतान कर सकते हैं। यदि आपकी सोसायटी अपार्टमेंट पेटीएम एप्प पर पंजीकृत नहीं है, तब भी आप कुछ आसान से चरणों का पालन कर भुगतान आरंभ कर सकते हैं।

पेटीएम के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट अमित वीर ने कहा, “हमारी टीम ने घर से काम करने के मौके का फायदा यह समझने के लिए किया है कि किस तरह हम उत्तराखंड के लोगों की मदद कर सकते हैं। हमने पेटीएम ऐप के इंटरफेस को नए सिरे से सुधारा है, ताकि उत्तराखंड के लोग आवश्यक पेमेंट आइकन को आसानी से देख सकें। इस तरह वह घर से बाहर निकलने और कोरोना वायरस की चपेट में आने के जोखिम से बचे रह सकते हैं।

हमने कोविड-19 पर सही जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए एक सूचना और सहायता केंद्र भी शुरू किया है, जिससे लोग अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फैली गलत जानकारी से किसी बहकावे में न आएं। हम अपने ऐप पर 50 राष्ट्रीय और प्रादेशिक अखबारों के ई-पेपर संस्करण को पढ़ने की सुविधा भी लोगों को मुहैया करा रहे हैं। हमारे सेल्फ एसेसमेंट टूल की मदद से, यूजर वायरस के रिस्क फैक्टर की जांच कर सकते हैं और सुरक्षित रहने के लिए सभी जरूरी कदम उठा सकते हैं।”

कंपनी पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये का योगदान देने के लिए डोनेशन इकट्ठी कर रही है।

हाल के कुछ हफ्तों में, पेटीएम ने कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए कई पहल की है। कंपनी पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये का योगदान देने के लिए डोनेशन इकट्ठी कर रही है। इसके अलावा, कंपनी मजदूरों के लिए भोजन का प्रबंध करने के लिए भी डोनेशन जुटा रही है और इसके लिए केवीएन फाउंडेशन के साथ मिलकर काम कर रही है।

Arogya Setu Advt Bottom

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *