हाड़ कंपाने वाली ठंड के साथ उत्तराखंड में बूँदा-बांदी शुरु; उंचे इलाकों में बर्फ गिरने का अनुमान -जानिए खबर

देहरादून। उत्तराखंड में बुधवार को अचानक बदले मौसम की वजह से हाड़ कंपाने वाली ठंड शुरू हो गई। राजधानी देहरादून और उसके आसपास के इलाकों के आसमान पर काले घने बादल छाए रहे। वहीं बुधवार देर रात कुछ इलाकों में बूंदाबांदी शुरू हो गयी थी।

गुरुवार सुबह उठने पर लोगों को का सामना बादलों से घिरे सर्द मौसम से हुआ। जहाँ आसमान से सूर्यदेव नदारद रहे वहीं आसमानी बूँदे सर्दी में इजाफा करती और कहर ढाती नजर आ रही हैं। यदि मौसम विभाग की मानें तो आज और कल उत्तराखंड के ज्यादातर इलाकों में भारी बर्फबारी हो सकती है। मौसम विभाग ने 2500 से अधिक ऊंचाई वाले सभी इलाकों में बर्फ गिरने का अनुमान जताया है। वहीं, निचले इलाकों में भी बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

वहीं पाला पड़ने के भी आसार हैं। बारिश और बर्फबारी के बाद तापमान में कमी आने से शुक्रवार और शनिवार को प्रदेश में ज्यादा कोल्ड डे कंडीशन रह सकती है। मौसम विभाग ने आज उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के ज्यादातर 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर तेज बारिश और बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है।

विभागीय बुलेटिन के अनुसार कम ऊंचाई वाले इलाकों में भी बारिश और बर्फबारी हो सकती है। वहीं, शुक्रवार 13 दिसंबर को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर व पिथौरागढ़ के ज्यादातर 2500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले स्थानों पर तेज बारिश व बर्फबारी होने का अनुमान है। देहरादून, टिहरी, नैनीताल व अल्मोड़ा के कुछ अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ गिर सकती है।

आज और कल राज्य के कई क्षेत्रों में ओले भी गिर सकते हैं। बुधवार को जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर हिमपात हुआ। मौसम विभाग की 12 और 13 दिसंबर को सीमांत जिले की ऊंची चोटियों पर भारी हिमपात, निचले इलाकों में ओलावृष्टि और तेज बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। अधिकारियों को अपने-अपने कार्यस्थल पर बने रहने के निर्देश दिए गए हैं।

बुधवार को क्षेत्र में आसमान बादलों से ढका रहा और ठंडी हवाएं चलती रहीं। मुनस्यारी और धारचूला की ऊंची चोटियों, दारमा और व्यास घाटी क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है। सड़कों में पाला गिरने से वाहनों के भी फिसलने का खतरा बना हुआ है। शीत लहर को देखते हुए बृहस्पतिवार को प्रदेश के मुख्य सचिव वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जिलों की समीक्षा करेंगे।

वहीं केदारनाथ धाम में बुधवार को शाम चार बजे के बाद से हल्की बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया। यहां तापमान माइनस 4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। तड़के धाम में घने बादल छाए थे, इस दौरान बर्फबारी की संभावना भी बनी, लेकिन 7.30 बजे से मौसम में सुधार होते ही केदारपुरी में हल्की धूप खिली रही। तीन बजे के बाद तक यहां मौसम ठीक रहा।

आदिगुरु शंकराचार्य के समाधि स्थल के पुनर्निर्माण समेत अन्य कार्य तेजी से होते रहे, लेकिन चार बजे से मौसम से करवट बदली और हल्की बर्फबारी शुरू हो गई। वुड स्टोन के टीम प्रभारी मनोज सेमवाल ने बताया कि बीते चार दिनों तक धाम में मौसम सुहावना था, जिससे यहां कार्य तेजी से हो रहे थे। लेकिन आज, मौसम के खराब होने से ठंड बढ़ गई है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *