सिपाही की पिटाई का वीडिया वायरल; पांच गिरफ्तार -जानिए खबर

हरिद्वार। सिपाही से मारपीट का वीडियो रात में सोशल मीडिया पर खूब वायरल होने लगा है। मीडिया खबरों के अनुसार कैलाश के साथ रहे सिपाही विक्रम के अलावा बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने पूरे मामले को अपने मोबाइल से कैमरे में कैद किया। एक-दूसरे के मोबाइल से निकलकर वीडियो एक दिन में हजारों लोगों तक जा पहुंचा। पुलिस ने कई वीडियो फुटेज जुटाई है। इनके आधार पर सिपाहियों से बदसुलूकी करने वाले अन्य लोगों की पहचान कराई जा रही है। पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

ज्ञातव्य हो कि शिवलोक कॉलोनी से सटी टिबड़ी बस्ती में मंगलवार आधी रात लोगों ने अवैध शराब से लदी स्कूटी पकड़ ली। सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मियों को भी गुस्साए लोगों ने घेर लिया। इस दौरान कुछ लोगों ने सिपाही के साथ मारपीट करते हुए वर्दी फाड़ दी। कोतवाली की गश्ती टीम ने मौके पर पहुंचकर सिपाही को बचाया। इस मामले में पुलिस ने महिला पार्षद और उसके पति समेत कुल आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

क्या है पूरा मामला

दरअसल, रानीपुर कोतवाली क्षेत्र की टिबड़ी बस्ती में अवैध शराब का धंधा लंबे समय से होता आ रहा है। मंगलवार को शिवलोक से निर्दल पार्षद रेनू नौडियाल के पति राकेश नौडियाल के खिलाफ एक महिला ने छेड़छाड़ और मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था।

पार्षद पक्ष का कहना है कि वार्ड में शराब का धंधा बंद कराने पर उनके खिलाफ शराब बेचने वालों ने झूठा मुकदमा दर्ज कराया है। इसी सिलसिले में रात के समय पार्षद और आस पास के लोगों ने एक स्कूटी को अवैध शराब के साथ पकड़ लिया। उनका दावा था कि शराब उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला की है। वहीं, स्कूटी छोड़कर युवक भाग खड़ा हुआ।

सूचना पर कांग्रेस से जुड़े कई नेता मौके पर पहुंच गए और पुलिस के साथ ही सत्ताधारी नेताओं पर शराब के धंधे को संरक्षण देने का आरोप लगाने लगे। पुलिस कंट्रोल रूम की सूचना पर चेतक सिपाही कैलाश चैहान और विक्रम टिबड़ी पहुंचे।

स्कूटी साथ लेकर जाने पर लोगों ने हंगामा कर दिया और नारेबाजी करते हुए सिपाहियों को घेर लिया। इसी बीच कुछ लोगों ने सिपाही कैलाश के साथ मारपीट शुरू कर दी। एक अधेड़ ने सिपाही को लात-घूंसे से पीटते हुए वर्दी फाड़ दी। सिपाही विक्रम ने वायरलेस पर पूरे घटनाक्रम की सूचना दी। जिसके बाद कोतवाली की गश्ती टीम टिबड़ी पहुंची और हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराते हुए सिपाही को छुड़ाया।

हालांकि तब तक मारपीट करने वाले लोग भाग खड़े हुए। स्कूटी को पुलिस अपने साथ ले गई। सिपाही कैलाश की तहरीर पर पुलिस ने पार्षद रेनू नौडियाल, उनके पति राकेश नौडियाल, इंद्र कुमार, नितेश, रितेश, उमेश, मदन व अंकित के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा, मारपीट और वर्दी फाड़ने जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

बुधवार सुबह नितेश और रितेश पुत्रगण सुरेश नौडियाल, उमेश पुत्र माधोराम, मदन पुत्र मनोहारी और अंकित पुत्र आनंद सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि स्कूटी से मिली अवैध शराब के संबंध में भी अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply