20 अप्रैल के बाद उत्तराखंड में किन जिलों को दी जा सकती है छूट -जानिए खबर

देहरादून। केन्द्र सरकार की गाइडलाइंस के बाद उत्तराखंड सरकार ने भी राज्य में कोरोना कहां कितना फैला है इस आधार पर राज्य को तीन श्रेणियों में बांटा है, इन्ही श्रेणियों से ये तय किया जाएगा कि 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में कहां छूट दी जाएगी। रेड जोन इस श्रेणी में आने वाले जिलों को 20 अप्रैल के बाद भी कोई रियायत नहीं दी जाएगी।

सरकार द्वारा जारी की गई सूची के आधार पर देहरादून को हॉट स्पॉट जिले में रखा गया है वहीं नैनीताल, अल्मोड़ा, हरिद्वार, और पौड़ी जिलों को नॉन हॉट स्पॉट की श्रेणी में रखा गया है। हांलाकि हरिद्वार और हल्द्वानी में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आये, हल्द्वानी के बनभूलपुरा में कर्फ्यू भी लगाया गया है, लेकिन फिलहाल बनभूलपुरा को छोड़कर इन स्थानों को नॉन हॉट स्पॉट की श्रेणी में ही रखा है जहां 20 अप्रैल के बाद सशर्त लॉक डाउन में रियायत दी जा सकती है।

ज्ञातव्य हो कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लॉकडाउन-2 का ऐलान करते हुए देश की जनता से 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में सशर्त कुछ छूट दिए जाने की बात कही। प्रधानमंत्री के बयान के बाद केन्द्र सरकार ने चिन्हित हॉटस्पॉट को रेड जोन तथा नॉन हॉटस्पाट को आरेंज जोन में रखा बाकी एरिया ग्रीन जोन होंगे।

  • रेड जोन का मतलब है कि स्थिति सबसे ज्यादा खतरनाक है।
  • आरेंज जोन का मतलब है कि स्थिति खतरनाक तो है पर रेड से कम है।
  • ग्रीन जोन का मतलब सेफ जोन माना गया है।

बता दें कि रेड जोन में उत्तराखंड के वो जिले शामिल हैं जहां सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के पॉजिटिव मामले सामने आए जैसे देहरादून को फिलहाल रेड जोन में रखा गया है। फिर ऑरेंज जोन में उन जिलों को रखा गया हैं जहां बहुत कम कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए इस श्रेणी में नैनीताल जिला, उधमसिंह नगर, और अल्मोड़ा को रखा गया है। ग्रीन जोन में वो जिले रखे गए हैं, जहां कोई भी कोरोना संक्रमण का मामला अब तक सामने नही आया ग्रीन जोन को सेफ जोन भी कहा जा सकता है, इस श्रेणी में उत्तरकाशी, बागेश्वर, चमोली,टिहरी, रुद्रप्रयाग, और पिथौरागढ़ को रखा गया है, यहां 20 अप्रैल के बाद लॉक डाउन में छूट दी जा सकती है।

कैसे बदलेगा रेड़ जोन ग्रीन जोन में-

रेड़ जोन से आरेंज जोन का स्टेटस बदलने में कम से कम 14 दिन का वक्त लगेगा और ग्रीन जोन का स्टेट्स मिलने में कम से कम 28 दिन का वक्त निर्धारित किया गया है। 28 दिन तक एक भी पॉजीटिव केस ना आने पर किसी जोन को ग्रीन जोन घोषित किया जा सकता है।

ukjosh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *