70 प्रतिशत अवैध अतिक्रमण साफ, मैदान में तबदील हुआ प्रेमनगर मुख्य बाजार

देहरादून। मा. न्यायालय के निर्देशों के क्रम में देहरादून शहर में मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण, नगर निगम देहरादून एवं जिला प्रशासन देहरादून द्वारा जन सामान्य हेतु बनाये गये फुटपाथों, गलियों, सड़कों एवं अन्य स्थलों पर किये गये अनधिकृत निर्माणों एवं अवैध अतिक्रमणों में ध्वस्तीकरण, चिन्हांकन व सीलिंग का कार्य निरन्तर किया जा रहा है।

अपर मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने शुक्रवार को महिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, सर्वे चैक स्थित आई.आर.डी.टी. सभागार में अतिक्रमण हटाओ टास्क फोर्स के अधिकारियों के साथ अवैध अतिक्रमणों के ध्वस्तीकरण, अतिक्रमणों के चिन्हीकरण व अवैध भवनों में किये जा रहे सीलिंग व इस संबंध में आगामी कार्ययोजना की समीक्षा की। श्री ओमप्रकाश ने बताया कि देहरादून शहर से अतिक्रमण हटाने का कार्य बदस्तूर जारी है। प्रेमनगर में अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही में मा.न्यायालय द्वारा दिये गये दिशा निर्देशा का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित किया गया है। उन्होंने बताया अतिक्रमण हटाओ टास्क फोर्स की चारो(04) जोन की टीमों को प्रेमनगर से अतिक्रमण हटाने के कार्य में लगाया गया है, ताकि प्रेमनगर से अवैध अतिक्रमणों को तीव्र गति से हटाया जा सकें। उन्होंने बताया कि प्रेमनगर से अब तक 70 प्रतिशत अवैध अतिक्रमणों को हटाया जा चुका है, शेष अतिक्रमणों को हटाने का कार्य बदस्तूर जारी है।

premnagr dehradun encroachment clean

अपर मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने बताया कि टास्क फोर्स द्वारा देहरादून शहर के मुख्य मार्गों में 9000 अवैध अतिक्रमणों का चिन्हीकरण किया गया था। जिनमें से अब तक 5000 अवैध अतिक्रमणों को हटाया जा चुका है, शेष अतिक्रमणां को 15 दिनों में हटा दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि अवैध अतिक्रमण हटाने के अभियान में सार्वजनिक मार्गों से अवमुक्त करायी गयी भूमि का प्रयोग मार्ग की चैडाई बढ़ाने, फुटपाथ, नाली, यूटीलिटी डक्ट का निर्माण, ऑप्टिकल फाइबर, ऑन रोड़ पार्किंग व वैंडर जोन विकसित किये जाने हेतु किया जाना है। श्री ओमप्रकाश ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किये गये भवनों के स्वामियों से पुनः अपील की है कि अपने अतिक्रमणों को स्वयं यथाशीघ्र हटा लें, अन्यथा टास्क फोर्स द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहा कि यदि अतिक्रमण टास्क फोर्स द्वारा अतिक्रमण को हटाया जाता जाता है, तो इसकी वसूली नियमानुसार भू-राजस्व के रूप में संबंधित भवन स्वामी से की जायेगी।

श्री ओमप्रकाश ने बताया कि देहरादून शहर से अतिक्रमण हटाने के बाद सड़कों के पुनिर्निर्माण के कार्य बरसात खत्म होने के बाद शुरू किये जायेंगे। श्री ओमप्रकाश ने बताया कि अब तक पुनर्निर्माण के कार्य के लिये विभिन्न विभागों से 81 करोड़ रूपये के एस्टीमेट प्राप्त हो चुके है। प्रेमनगर की सड़कों सहित अन्य सौन्दर्यीकरण के कार्यों के पुनर्निर्माण के एस्टीमेट प्राप्त होने के बाद यह एस्टीमेट लगभग 100 करोड़ रूपये होने की संभावना है। पुनिर्निर्माण के कार्य के लिये स्मार्ट सिटी, नेशनल हाईवे(एन.एच.), नगर निगम व पॉवर कार्पोरेशन से वित्तीय सहायता ली जायेगी। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुश्री निवेदिता कुकरेती, सचिव एम.डी.डी.ए. श्री पी.सी.दुमका, नगर मजिस्ट्रेट श्री मनुज गोयल, उपजिलाधिकारी सदर श्री प्रत्युष सिंह, अनु सचिव श्री दिनेश कुमार पुनेठा सहित लोनिवि, सिंचाई, विद्युत व अतिक्रमण हटाओ अभियान से जुडे संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *