मोदी को बड़ा झटका, ईडी ने बैंक खाते, शेयर और विदेशी घडियां भी की जब्त

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक महाघोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के ठिकानों पर लगातार छापेमारी हो रही है। ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) ने नीरव मोदी के 44 करोड़ रुपए के बैंक जमा और शेयरों को फ्रीज कर दिया है। कार्रवाई के दौरान ईडी ने स्टील की 176 अलमारी और 60 प्लास्टिक के कंटेनर भी जब्त किए हैं। इनमें कई हजार विदेशी घडियां जब्त की गई हैं। ईडी ने नीरव मोदी के वो बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिए हैं जिनमें 30 करोड़ रुपए तक का बैलेंस है. इसके साथ ही ईडी ने सर्च ऑपरेशन के दौरान नीरव मोदी के 13.86 करोड़ रुपए के शेयर्स भी जब्त किए हैं।

 

#जब्त की गई 9 लग्जरी कारें

ईडी ने गुरुवार को भी नीरव मोदी के ठिकानों पर छापेमारी कर 9 लग्जरी कारों को सीज किया था। इन कारों में 1 रॉल्स रॉयस घोस्ट, 2 मर्सिडीज बेंज जीएल 350 सीडीआई, पोर्शे की पनामेरा, 3 होंडा कारें, एक टोयोटा और एक टोयोटा इनोवा शामिल हैं। इन कारों की कीमत करोड़ों में है। इसके अलावा, नीरव मोदी के म्युचुअल फंड और शेयर्स भी सीज किए गए थे।

 

#94 करोड़ के शेयर और म्युचुअल फंड सीज

प्रवर्तन निदेशालय ने नीरव मोदी और मेहुल चोकसी समूह के 94 करोड़ रूपए के शेयर और म्युचुअल फंड्स भी फ्रीज किए थे। इसमें नीरव मोदी के 7.80 करोड़ रुपए के शेयर और म्युचुअल फंड सीज किए गए हैं। वहीं, मेहुल चैकसी ग्रुप के 86.72 करोड़ रुपए के शेयर और म्युचुअल फंड सीज किए गए हैं।

 

#नीरव मोदी को ई-मेल से भेजे गए नोटिस

विदेश मंत्रालय ने कहा कि नीरव मोदी को कारण बताओ नोटिस भेजकर पूछा गया है कि उनका पासपोर्ट निरस्त क्यों नहीं किया जाना चाहिए और यह नोटिस उन्हें ई-मेल के माध्यम से भी भेजा गया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार से जब नीरव मोदी की लोकेशन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, इस मामले को कानून प्रवर्तन एजेंसियों के समक्ष रखा जाना चाहिए। कुछ जांच और कानूनी प्रक्रियाएं हैं जिन्हें मंत्रालय के दखल से पहले पूरा किए जाने की जरूरत है।

 

#पीएनबी ने पूछा पैसे चुकाने का प्लान

पीएनबी ने नीरव मोदी से बकाया भुगतान के लिए प्लान पूछा है. ये बातें बैंक की तरफ से उस ई-मेल के जवाब में कही गई हैं जो बैंक के पास नीरव मोदी की तरफ से आया था। बताया जा रहा है कि नीरव मोदी न्यूयॉर्क में छिपा हुआ है. वहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट में उसके दुबई में होने की आशंका जताई गई थी। इससे पहले इस महाघोटाले में सीबीआई ने दावा किया था कि गिरफ्तार किए गए नीरव मोदी की कंपनी के सीएफओ विपुल अंबानी को घोटाले की पूरी जानकारी थी।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply