नौनिहालों के सर्वागीण विकास के लिए आंगनबाडी केन्द्रों को माॅडल के रूप में तैयार करने की कवायद शुरू

चमोली। नौनिहालों को पूर्वशाला शिक्षा देने के लिए आंगनबाडी केन्द्रों को माॅडल के रूप में तैयार करने की कवायद शुरू हो गई है। इसके पहले चरण के तहत 10 आंगनबाडी केन्द्रों को माॅडल रूप में विकसित करने हेतु चयन किया गया है। जिनमें नौनिहालों के सर्वागीण विकास के लिए शीघ्र ही सभी सुविधाएं जुटायी जायेंगी, ताकि आंनगबाडी से निकलने के बाद बच्चों के शारीरिक विकास के साथ-साथ बौद्विक स्तर में भी प्रभावी सुधार हो सके।

गुरूवार को जिलाधिकारी स्वाति एस. भदौरिया ने बाल विकास से जुड़े विभागीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए जिले की आंगनबाडी केन्द्रों में सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। बैठक में पहले चरण के तहत जिले की 10 आंगनबाडी केन्द्रों को माॅडल के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया।

जिलाधिकारी ने पहले चरण के तहत चयनित सभी आंगनबाडी केन्द्रों में प्रोजेक्टर, आॅडियोंध्वीडियो किट, फर्नीचर, कलर मैट, कलर बुक, गुढढा-गुढढी बोर्ड, खेलकूद तथा लम्बाई और वजन मापने के लिए आवश्यक सामग्री का क्रय करने हेतु शीघ्र कोटेशन की कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश सीडीपीओ को दिये है। माॅडल आंगनबाडी केन्द्रों में भोजन व्यवस्था के लिए गैस कनेक्शन तथा पठन-पाठन के लिए विद्युत कनेक्शन भी मुहैया कराने को कहा। इसके साथ ही आंगनबाडी केन्द्रों में आर्ट टीचरों के माध्यम से आकर्षक व संदेशपरक वाॅल पेन्टिंग भी कराने के निर्देश दिये।

आंगनबाडी केन्द्रों में गुणवत्ता परक शिक्षा देने के लिए डायट के माध्यम से जिले में कार्यरत आंगनबाडी कार्यकत्रियों को दिये गये प्रशिक्षण कार्यो की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जो कार्यकत्री प्रशिक्षण नही ले पायी है, उन्हें शीघ्र प्रशिक्षण दिया जाय। उन्होंने सभी आंगनबाडी केन्द्रों पर मासिक एक्टिविटी के लिए निर्धारित बुकलेट के अनुसार ही बेसिक एक्टिविटी शुरू कराने के भी निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने कहा कि जिन विकासखण्डों में सेक्श रेश्यों कम है, उन सभी ब्लाकों में बेटी बचाओं बेटी पढोओं का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय। उन्होंने आगामी राष्ट्रीय बालिका दिवस, 24 जनवरी को शिक्षा, खेलकूद आदि विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली बालिकाओं को भी सम्मानित करने के निर्देश सीडीपीओ को दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हसांदत्त पंाडे, एसडीएम बुसरा अंसारी, प्राचार्य डायट कुंवर सिंह, प्रवक्ता डायट भगत सिंह कनवाल, सीएचओ नरेन्द्र यादव, सीडीपीओ सोएब हुसैन आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *