ब्रेक फेल होने से तीर्थयात्रियों से भरी बस पलटी -जानिए खबर

देहरादून। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा चल रही है। प्रदेश सरकार के चारधाम यात्रा के सुरक्षित और यात्रियों के लिए पुख्ता इंतजाम होने दावों के बीच रोजाना ही यात्रियों को किसी न किसी परेशानी से जूझना पड़ रहा है।

लगभग हर रोज चारधाम यात्रा को लेकर अव्यवस्थाओं के मामले प्रकाश में आ रहे हैं। अब इसी क्रम में यात्रियों को लेकर आ रही एक बस हादसे का शिकार हो गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बदरीनाथ धाम से तीर्थयात्रियों को लेकर लौट रही एक बस के बेनाकुली में ब्रेक फेल हो गए। चालक ने सूझबूझ का परिचय देकर बस पहाड़ी से तो टकरा दी लेकिन बस हाईवे पर पलट गई।

बस में 24 तीर्थयात्री सवार थे, जिनमें से 11 को चोटें आई हैं। सीएचसी जोशीमठ में प्राथमिक उपचार के बाद तीन घायलों को हायर सेंटर भेज दिया गया है।

बुधवार को अपराह्न साढ़े तीन बजे बदरीनाथ से आंध्रप्रदेश के तीर्थयात्रियों को लेकर जोशीमठ जा रही बस के बेनाकुली में ब्रेक फेल हो गए। चालक ने बिना तीर्थयात्रियों को बताए बस को पहाड़ी से टकरा दिया और बस हाईवे पर पलट गई। हाईवे के नीचे ही अलकनंदा बह रही है अगर चालक बस पहाड़ी से न टकराता तो बड़ा हादसा हो सकता था।

हादसे में नागराजन पुत्र के राजू, हेमलता पत्नी अपारा, डी श्यामलता पत्नी डी गिरी, आरवारा लक्ष्मी पत्नी आर लक्ष्मी, एस नागेश्वर राव पुत्र के स्वामी, आर सरस्वती पत्नी आर सचनारायण, एन भारती पत्नी एस राज, नागलक्ष्मी पुत्री सचनारायण, एन ज्योति पुत्री रमेश, नारायणी पत्नी नागेश्वर और डी लक्ष्मी पत्नी सत्य नारायण सभी आंध्रप्रदेश निवासी को चोटें आई हैं।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। जिला अस्पताल से भी चिकित्सकों की टीम एंबुलेंस के साथ मौके पर पहुंची। सभी घायलों को एंबुलेंस से सीएचसी जोशीमठ में भर्ती कराया गया। जहां से डॉक्टरों ने आर सरस्वती, आरवारा लक्ष्मी और डी श्यामला को गंभीर हालत में हायर सेंटर भेज दिया।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply