‘गूगल पे ऐप’ पर डोनेशन देकर सीड्स के साथ मानवता के लिए बेहतर आधार का करें निर्माण

देहरादून। सीड्स (सस्टेनेबल एनवायरनमेंट एण्ड इकोलाॅजिकल डेवलपमेंट सोसायटी) एक गैरलाभकारी संगठन है, जो आपदा की बेहतर तैयारी, प्रतिक्रिया एवं पुनर्वास में व्यवहारिक समाधानों द्वारा समुदायों को सशक्त बनाता है। इस संगठन ने गूगल द्वारा विकसित डिजिटल वाॅलेट प्लेटफाॅर्म एवं आॅनलाईन पेमेंट सिस्टम के साथ गठबंधन किया है ताकि यूज़र्स इस ऐप पर कुछ ही टैप करके डोनेट करने में समर्थ बन सकें।

इस गठबंधन की घोषणा गूगल ने आज नई दिल्ली में एक समारोह, ‘फ्यूचर आॅफ फिनटेक एट गूगल’ में की। इस प्लेटफाॅर्म द्वारा सीड्स का उद्देश्य डोनेशंस को आसान व सुगम प्रक्रिया में तब्दील करना है, जिससे सीड्स के मानवीय कल्याण के कार्यक्रमों में मदद मिल सके और समुदायों को आपदा के लिए बेहतर रूप में तैयार करने के साथ सम्मान के साथ जिंदगियों, घरों और स्कूलों का पुनर्वास किया जा सके।

इस सहयोग की घोषणा करते हुए अंबरीश केंघे, डायरेक्टर प्रोडक्ट मैनेजमेंट, गूगल पे ने कहा, ‘‘गूगल पे ने हाल ही में सीआरपीएफ के साहसी सैनिकों के लिए भारतीय यूज़र्स द्वारा दिए गए 34 करोड़ रु. का डोनेशन दर्ज किया, ताकि पीड़ितों एवं उनके परिवारों की मदद हो सके। इस प्रतिक्रिया से प्रोत्साहित होकर हम गूगल पे पर डोनेशन को एक स्थायी फीचर बना रहे हैं, जहां आप विविध एनजीओ को तलाशकर उन्हें डोनेशन दे सकेंगे। हमारे पास आज अपने प्लेटफाॅर्म पर राज्य सरकार के आठ संगठन एवं तीन एनजीओ लाईव हैं तथा आने वाले समय में अनेक अन्य भी हमसे जुड़ जाएंगे। इसके द्वारा यूज़र्स उन उद्देश्यों के लिए डोनेट कर सकेंगे, जिनमें वो भरोसा करते हैं।’’

डाॅ. मनु गुप्ता, को-फाउंडर, सीड्स ने कहा, ‘‘हम गौरवान्वित हैं कि गूगल ने सीड्स को इसके मानवीयता के कार्यों में मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया। हमें खुशी है कि सीड्स इस ऐप पर डोनेशन के लिए एनजीओ की सूची में है और हम पूरे देश से व्यापक सहयोग प्राप्त करने के लिए आशान्वित हैं। सीड्स ने अपनी पिछले 25 सालों की यात्रा के दौरान देश में समुदाय के सदस्यों को आपदा के लिए तैयार करने और आपदा के बाद सामान्य जीवन बहाल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मानवता के लिए हमारी प्रतिबद्धता सदैव से बिना रुके चलती आई है। हमें विश्वास है कि यह सहयोग हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने और एक बेहतर आधार तैयार करने में मदद करेगा।’’

यूज़र्स ऐप पर लाॅग इन करके और सीड्स के लोगो पर क्लिक करके डोनेट कर सकते हैं, जिसके बाद वो सीधे पेमेंट गेटवे पर पहुंचेंगे, जहां यूपीआई, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग द्वारा विनिमय पूरा किया जा सकता है। भारतीय नागरिकों द्वारा दिए गए सभी डोनेशंस पर इंकम टैक्स अधिनियम की धारा 80जी के तहत टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट मिलेगी।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply