निरंकार-दातार के ज्ञान बिना भक्ति अधूरी है : रविन्द्र बडोनी

भक्तिमय जीवन जीना ही मानव जीवन का परम लक्ष्य है

देहरादून। सन्त निरंकारी मण्डल, त्यागी रोड, रैस्ट कैम्प में आयोजित रविवारीय सत्संग में विशाल प्रभु-प्रमियों के उमढें जनसैलाब को स्थानीय ज्ञान प्रचारक रविन्द्र बडोनी ने अपनी अमृतमयी वचनों की वर्षा करते हुये कहा कि जीवन में भक्ति नही, तब तक जीवन पूर्ण नही हो सकता। निष्काम भक्ति से ही जीवन सफल व सार्थक होता है। भक्ति के अनुसार जीवन, जीवन की चाल में सुंदर भाव और भावों के अनुसार सुन्दर व्यवहार सही मायनों में भक्त की पहचान बनती है। ब्रह्मज्ञान, निरंकार-दातार के ज्ञान के बिना भक्ति अधूरी है जिसके दर्शन समय के सत्गुरू के माध्यम से हो सकते है। अध्यात्म में भक्ति मार्ग सर्वश्रेष्ठ, सुखदायी, आनन्दमयी और मुक्तिदायी होती है।

उन्होंने आगे कहा कि इस सर्वव्यापक, निरंकार-प्रभु के अहसास में जीवन जीना ही सफल जीवन है। उठते-बैठते, सोते-जागते, विचरण करते हुये इस प्रभु-परमात्मा, सर्वव्यापक निरंकार को दिल में बसाये हुये जीवन व्यतीत करना ही सही मायनों में भक्ति है। भक्ति के दो महत्वपूर्ण आयाम है, एक भक्त और दूसरा भगवान। भगवान अर्थात यह प्रभु जिसका हमें सदगुरू की कृपा से बोध हुआ है और जो सर्वशक्तिमान, सर्वव्यापक, सब कुछ जानने वाला है, जिसका वास कण-कण में है। दूसरा भक्तजन-भक्त इस मालिक-खालिक को जानकर, इसी को समर्पित होकर, दुनिया की तमाम जिम्मेदारियों को निभाता है। युगो-युगों में इसी समाज-संसार में रहकर जिम्मेदारियों को निभाते हुये भक्तों ने पहले भी भक्ति की है

उन्होने आगे फरमाया कि सद्गुरू माता सविन्दर हरदेव जी महाराज के पावन पवित्र चरणों में अरदास है कि सबका भला करो भगवान, सबका सब विधि हो कल्याण, ताकि हम आपकी आवाज को निरंकार की आवाज मानते हुये अपना सम्पूर्ण जीवन आपके बताये गये मार्ग पर चलते हुये भक्ति की बुलन्दियों तक पहुंच पायें। सत्संग समापन से पूर्व अनेकों सन्तों-भक्तों, प्रभु प्रेमियों ने गीतों, प्रवचनों द्वारा संगत को निहाल किया। मंच संचालन युवा महात्मा विजय रावत ने किया।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *