प्रभात फेरी निकालकर प्राथमिक विद्यालय जगतपुर में प्रधानाध्यापिका ने किया ध्वजारोहण -जानिए खबर

विकासनगर। राजधानी देहरादून के जगतपुर में बीते 15 अगस्त को देश के 73 वें स्वतंत्रता दिवस हर जगह धूमधाम के साथ मनाया गया। कृतज्ञ राष्ट्र ने वही आज स्वतंत्रता दिवस के साथ रक्षाबंधन को त्यौहार भी है। जिसमें इस अवसर पर राजकीय प्राथमिक विद्यालय, जगतपुर, ढालावाल सहसपुर ब्लाक देहरादून के स्कूल में धूमधाम के साथ ध्वजारोहण किया गया। जिसमें आज प्रातः 7.00बजे प्रधानाधियापिका व स्कूल के बच्चों ने प्रभात फेरी निकाली ।

बच्चो ने भारत माता की जय, वंदें मातरम, देश भाक्ति नारे व गीत गाए इसी के साथ स्कूल कें बच्चों ने आज 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आजादी की लड़ाई में शहीद हुए स्वतंत्रता सेनानियों को योगदान दिया और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। जिसमें छात्र छात्राओं के साथ शिक्षक शिक्षिकाएं भी शामिल हुईं।

इसके बाद स्कूल की प्रधानाध्यापिका ने झंडा फहराया और राष्ट्रगान गाया। साथ स्कूल की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम किया। साथ एवं बच्चों ने योग व पीटी, ड्राईगं व रंगारंग कार्यक्रम किया और देश भक्ति गीतों पर जमकर नाचे। इसी के साथ स्कूल की छात्राओं ने अपने सहपाठीयों को रक्षाबंधन के त्यौहार पर छात्राओं ने माथे पर लाल तिलक लगाकर हाथ की कलाई में रक्षा सूत्र बांधा और मिठाई खिलाई।

स्कूल के बच्चों में रक्षाबंधन को लेकर खासा उत्साह देखने को मिला। पुष्पारानी ने ध्वजारोहण किया और इस आजादी की 73वीं सालगिरह के मौके पर स्कूल की प्रधानाध्यापिका श्रीमति पुष्पारानी ने शहीद जवानों एवं उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के सभी अमर शहीदों व आंदोलनकारियों को श्रद्धापूर्वक नमन करते हुए कहा- आइये हम सब संकल्प लें कि हम राष्ट्र की एकता और अखण्डता बनाये रखने के लिए अपना शत प्रतिशत योगदान देंगे। हम भारत की खुशहाली और तरक्की के लिए अपना जीवन अर्पित करेंगे।

वही इसी के साथ प्रधानाध्यापिका ने बच्चों को आज दिन का महत्व बताया कि 15 अगस्त 1947 को जब भारत को आजादी मिली थी तब राष्ट्रपिता महात्मा गांधी इस जश्न में शामिल नहीं हो सके थे। बच्चों को बताते हुए कहा की भारत 15 अगस्त को आजाद जरूर हो गया लेकिन उस समय उसका अपना कोई राष्ट्र गान नहीं था।

हालांकि रवींद्रनाथ टैगोर जन.गण.मन 1911 में ही लिख चुके थे। लेकिन यह राष्ट्रगान 1950 में ही बन पाया। इस बार 19 साल बाद स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन एक साथ मनाने का योग बना है। इससे पहले वर्ष 2000 में स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन एक दिन ही पड़े थे। इस अवसर स्कूल की स.अ. श्रीमति सोमबाला नेगी, स्कूल प्रबंध समिति अध्यक्ष लक्ष्मी देवी, श्रीमति कला देवी, छात्रों में कु0 निकिता, अंशिका, सीमरन, आयुष, आर्यन, अमन, कृष्णा, इश्किा साक्षी, वैष्नवी, अदित्या, अभिशेक, कार्तिक, निशा आदि सभी छात्र मौजूद थे।

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply